हत्या-आत्महत्या में उलझी प्रेमी युगल की मर्डर मिस्ट्री:शाहजहांपुर में वारदात में इस्तेमाल तमंचा प्रेमी के पिता से मिला; वारदात प्रेमिका के घर में हुई थी, पिता ने लड़के का शव घर से 200 मीटर दूर फेंक दिया था

शाहजहांपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव की रहने वाली एक युवती बंटी से युवक आशीष का 7 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। - Dainik Bhaskar
गांव की रहने वाली एक युवती बंटी से युवक आशीष का 7 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

शाहजहांपुर में युवक-युवती की शुक्रवार सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। युवती का शव अपने ही घर के दूसरी मंजिल और युवक का शव उसके घर से 200 मीटर की दूरी पर घर के बाहर मिला था। शुरुआती जांच में लग रहा था कि युवक युवक की हत्या ऑनर किलिंग है लेकिन पुलिसिया जांच में अब कहानी हत्या और आत्महत्या के बीच में झूल रही है। जिस तमंचे से दोनों की मौत हुई है पुलिस उसे अभी तक खोज नहीं पाई थी। शनिवार देर रात तमंचे को प्रेमी के पिता से बरामद किया गया है।

क्या हुआ था गुरूवार की रात में?

पुलिस की जांच में पता चला है कि प्रेमी आशीष के मोबाइल की लोकेशन रात में उसके गांव में मिली थी। पुलिस की दोबारा पूछताछ में प्रेमिका की मां ने बताया कि उस रात करीब एक बजे तक बेटी बंटी खाना लेकर घर की पहली मंजिल पर गई थी। रात करीब दो बजे के आसपास जब वह पहली मंजिल के बाद दूसरी मंजिल पर गई तो वहां पर बेटी बंटी और गांव के रहने वाले आशीष के गोली लगे शव पड़े थे। उसके पास तमंचा भी पड़ा मिला। तब उसने अपने पति कृष्णपाल को बताया। कृष्णपाल दोनों शवों को देखकर घबरा गए। रात करीब तीन बजे के आसपास उन्होंने आशीष का शव घर से बाहर करीब दो सौ मीटर की दूसरी पर स्थित एक पेड़ के नीचे फेंक दिया था। उसके शव के पास तमंचा भी डाल दिया था। उसके बाद वह घर चले गए थे। शुक्रवार सुबह तक उन्होंने बेटी की मौत की जानकारी भी किसी को नहीं दी।

प्रेमी के पिता के पास से मिला तमंचा

शुक्रवार सुबह जब किसी ने आशीष के पिता सुखलाल को जानकारी दी कि आपके बेटे का शव पड़ा है। उस वक्त शव के बेहद करीब जाने वाले आशीष के पिता सुखलाल थे। ऐसा माना जा रहा था कि जब आशीष का पिता उसके शव के पास पहुंचा था तब उन्होंने उसके शव के पास पड़े तमंचे उठाकर अपने पास रख लिया था। यह बात उसने पुलिस को नहीं बताई कि उसने तमंचा उठाया है। बहरहाल, दोनों शवों का शुक्रवार को गांव में अंतिम संस्कार किया गया। एक तरफ प्रेमिका के पिता ने प्रेमी आशीष के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई तो वहीं प्रेमी के पिता की तरफ से प्रेमिका के पिता समेत परिवार के पांच सदस्यों के खिलाफ आशीष की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

एसपी एस आनंद ने बताया कि घटना के बाद तमाम ऐसे साक्ष्य मिले थे। जिसमें हत्या करने की पुष्टि नहीं हो रही थी। दोनों ही परिवारों से पूछताछ की जा रही है। घटना का खुलासा बहुत जल्द कर दिया जाएगा।

7 साल से प्रेम संबंध था युवक युवती में

यह घटना थाना गढ़िया रंगीन क्षेत्र के गांव नोगामा नरोत्तम की है। यहीं का रहने वाला 25 साल का आशीष नोएडा में रहकर प्राइवेट जॉब करता था। उसका गांव की रहने वाली एक युवती से 7 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बताया जा रहा है कि दो महीने पहले युवती की शादी कहीं और तय हो गई थी। इस बात को लेकर आशीष डिस्टर्ब था।

खबरें और भी हैं...