डॉक्टर के घर के बाहर सड़क पर गर्भवती की डिलीवरी:शाहजहांपुर में गर्भवती को डॉक्टर ने घर पर बुलाया था, इलाज के लिए पहुंची तो दरवाजा नहीं खोला, सड़क पर हो गया बच्ची का जन्म

शाहजहांपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इलाज के लिए परेशान महिला का पति। - Dainik Bhaskar
इलाज के लिए परेशान महिला का पति।

शाहजहांपुर में एक गर्भवती महिला ने एक डॉक्टर के घर के बाहर सड़क पर बच्ची को जन्म दे दिया। महिला इलाज कराने के लिए डाक्टर के घर पहुंची थी। तेज प्रसव पीड़ा होने के बाद उसने आवास के बाहर ही बच्ची को जन्म दे दिया। बच्ची होने के बाद वहां पर लोगों की भीड़ जमा होने लगी। मौके पर परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। जिसके बाद परिजनों को भगाने के लिए डॉक्टर ने पुलिस बुलाने की धमकी दे डाली और गाली-गलौज शुरू कर दिया। बाद में महिला और नवजात शिशु को राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया।

इलाज के लिए रोते महिला के परिजन।
इलाज के लिए रोते महिला के परिजन।

महिला को कहीं नहीं मिल रहा था इलाज

चौक कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला बर्कजई के रहने वाले हिमांशु ने अपनी गर्भवती पत्नी रंजना को दो दिन पहले डायरिया होने पर राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था। आरोप है कि इस दौरान उन्हें बाहर से दवाएं लिखी गईं। शनिवार की सुबह हिमांशु रंजना की छुट्टी कराकर उसे एक निजी नर्सिंग होम में ले आया। जहां पर डाक्टर ने उसका इलाज करने से इंकार कर दिया। हिमांशु ने राजकीय मेडिकल कॉलेज के एक डाक्टर से फोन पर बात की। डॉक्टर ने रविवार को उन्हें अपने आवास पर बुलाया था। हिमांशु रंजना को लेकर डॉक्टर के घर पहुंचा। घर के बाहर बैठने के कारण रंजना को दिक्कतें होने लगी, लेकिन डॉक्टर ने दरवाजा नहीं खोला। आरोप है कि काफी देर बाद दरवाजा खोलने पर डॉक्टर उन लोगों को वहां से भगाने लगी।

ये प्रसव पीड़ा के वो निशां हैं, जो सिस्टम ने दिए हैं। सड़क पर पड़ी महिला तड़पती रही, डिलीवरी हो गई पर डॉक्टर ने दरवाजा नहीं खोला।
ये प्रसव पीड़ा के वो निशां हैं, जो सिस्टम ने दिए हैं। सड़क पर पड़ी महिला तड़पती रही, डिलीवरी हो गई पर डॉक्टर ने दरवाजा नहीं खोला।

डॉक्टर मांग रहे थे 4500 रुपए फीस

हिमांशु का आरोप है कि वह डाक्टर के पास प्राइवेट इलाज करा रहे थे। डॉक्टर ने कुछ ही दिनों में तीन बार अल्ट्रासाउंड करा दिए। दवाएं बाहर से लिख दीं। आप्रेशन या नार्मल डिलीवरी के नाम पर अलग-अलग रुपए बता दिए। डाक्टरों ने उसको 4500 रुपए फीस बताई थी, जिसके लिए वह तैयार भी हो गया था। लेकिन हालत बिगड़ने पर जब रंजना को डाक्टर के घर पर लाया गया, तो डाक्टर ने मरीज को भगा दिया। प्राचार्य राजेश कुमार ने बताया कि डाक्टर के घर के आवास के बाहर महिला ने जन्म दिया है। ये जांच का विषय है। मरीज के परिजनों ने जो आरोप लगाए हैं, उसकी जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...