शव के साथ 500 km तक पति ने किया सफर:ट्रेन में सोते समय पत्नी की हुई मौत, शाहजहांपुर स्टेशन पर उतारी गई डेड बॉडी

शाहजहांपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शाहजहांपुर में पति अपनी पत्नी के शव के साथ करीब 500 km का सफर ट्रेन से तय करके पहुंचा। कंट्रोल रूम की सूचना पर जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने डॉक्टर की मौजूदगी में शव को ट्रेन से बाहर निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। पति के अनुसार बीमार पत्नी का लुधियाना में इलाज कराकर वापस अपने घर बिहार जा रहा था। लुधियाना से चलते ही पत्नी सोने के लिए लेटी। कई घंटे तक पत्नी के पास उसी सीट पर बैठा रहा। टीटीई के आने के बाद जब पत्नी को उठाया तो, वो नहीं उठी। उसके बाद कंट्रोल रूप को सूचना दी गई।

लुधियाना से बिहार जा रहे थे पति-पत्नी
बिहार के औरंगाबाद जिले का रहने वाला नवनीत अपनी 22 साल की बीमार पत्नी उर्मिला का लुधियाना में इलाज कराकर मोरध्वज एक्सप्रेस ट्रेन से वापस घर जा रहा था। जनरल टिकट लेकर नवनीत बीमार पत्नी को लेकर स्लीपर कोच में बैठ गया। लुधियाना से निकलते ही पत्नी सीट पर लेट गई और नवनीत उसके पास बैठ गया। टीटीई ने आकर टिकट चेक किया। इसके बाद टीटीई ने टिकट बनवाने के लिए कहा। तब तक नवनीत करीब 500 किलोमीटर का सफर तय कर शाहजहांपुर स्टेशन पहुंचने वाला था।

जब नवनीत ने पत्नी को उठाने के लिए आवाज लगाई, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उसके बाद टीटीई ने देखा तो उसको कुछ ठीक नहीं लगा। इसके बाद टीटीई ने कंट्रोल रूप को सूचना दी। शनिवार की शाम स्टेशन पर ट्रेन पहुंचते ही जीआरपी और आरपीएफ ने डॉक्टर की टीम के साथ पहुंचकर उर्मिला को देखने के बाद उसको मृत घोषित कर दिया। इतना ही नहीं डॉक्टर ने बताया कि, शव देखकर लग रहा है कि, काफी देर पहले महिला की मौत हो चुकी है। उसके बाद पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया ।

बीमार पत्नी का इलाज कराने गया था पति
वहीं जीआरपी इंस्पेक्टर राम सहाय ने बताया कि, कंट्रोल रूप से सूचना मिलने पर ट्रेन के रूकते ही टीम ने पहुंचकर महिला को नीचे उतारा। लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी। पति की मौजूदगी में शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...