• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Shamli
  • Blast Happened In Shop In Shamli, BJP Leader Had Left Muslim Girl After Marriage; Hurt By This, The Fundamentalists Hatched A Conspiracy

भाजपा नेता को बम से उड़ाने की साजिश, इमाम गिरफ्तार:शामली में दुकान में हुआ था धमाका, भाजपा नेता ने शादी के बाद छोड़ दी थी मुस्लिम लड़की; इससे आहत कट्टरपंथियों ने रची साजिश

शामली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शामली में भाजपा नेता की दुकान पर 14 सितंबर को हुए बम धमाके में मस्जिद के इमाम दाउद को शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
शामली में भाजपा नेता की दुकान पर 14 सितंबर को हुए बम धमाके में मस्जिद के इमाम दाउद को शुक्रवार को गिरफ्तार किया है।

उत्तर प्रदेश के शामली में 14 सितंबर को भाजपा नेता कंवरपाल की इलक्ट्रॉनिक शॉप में हुए धमाके में शुक्रवार को मस्जिद के इमाम दाउद को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि भाजपा नेता को बम से उड़ाने की साजिश थी, लेकिन किन्हीं कारणों से बम ठीक से फट नहीं पाया। शामली जिले में झिंझाना थाना क्षेत्र के गांव चौसाना में पुलिस चौकी के सामने कंवरपाल की इलक्ट्रॉनिक शॉप है। वह भाजपा के बूथ अध्यक्ष भी हैं। नौ दिन पहले शाम एक अज्ञात व्यक्ति शॉप पर एलईडी बल्ब खरीदने आया और थैला छोड़कर चला गया। उसके जाते ही थैले में धमाका हो गया। हालांकि धमाके की तीव्रता इतनी कम थी कि कुछ भी नुकसान नहीं हुआ।

शामली पुलिस इस केस में दो आरोपियों को पहले ही पकड़ चुकी है।
शामली पुलिस इस केस में दो आरोपियों को पहले ही पकड़ चुकी है।

अब तक तीन पकड़े, दो फरार
झिंझाना थाना पुलिस ने मामले में शुक्रवार को ग्राम नाई नगला नवीन निवासी दाउद को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, आरोपी एक मस्जिद में इमाम है। दाउद की गिरफ्तारी पर पुलिस ने 24 हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। इससे पहले 16 अगस्त को दो अन्य आरोपी तैमूर व मोनिश गिरफ्तार हो चुके हैं। उनके कब्जे से ग्राइंडर मशीन, कांच के टुकड़े, लोहे का शॉकेट, 200 ग्राम गंधक, पोटेशियम नाइट्रेट, सल्फ्युरिक एसिड बरामद हुआ था। शेष दो आरोपी शहजाद और हैदर फरार हैं। उनकी भी तलाश जारी है।

आरोपियों से बम बनाने में प्रयुक्त विस्फोटक पदार्थ भी बरामद हुआ है।
आरोपियों से बम बनाने में प्रयुक्त विस्फोटक पदार्थ भी बरामद हुआ है।

एसपी बोले- मुस्लिम लड़की को छोड़ने पर कंवरपाल को सबक सिखाना चाहते थे
शामली एसपी सुकीर्ति माधव के अनुसार, कंवरपाल ने शामली की एक मुस्लिम लड़की से साल-2010 में शादी की। उसके बाद कंवरपाल ने अपना नाम फिरोज रख लिया। कुछ साल बाद कंवरपाल उर्फ फिरोज ने पत्नी को छोड़ दिया। ससुराल से समझौते के लिए कई बार फोन आए लेकिन कंवरपाल नहीं गया। एसपी ने बताया कि शामली में कुछ मुस्लिम कट्टरपंथियों को यह बात नागवार गुजरी। उन्होंने माना कि कंवरपाल ने हमारे दीन के साथ धोखा किया है। इसलिए उन्होंने कंवरपाल की हत्या की साजिश रची।

शामली में 14 सितंबर को भाजपा नेता की दुकान में एक थैले में धमाका हुआ था।
शामली में 14 सितंबर को भाजपा नेता की दुकान में एक थैले में धमाका हुआ था।

पुलिस का दावा- सहारनपुर के इमाम शहजाद ने बनाया बम
एसपी के अनुसार, सहारनपुर की मस्जिद में इमाम शहजाद को बम बनाना आता है। उसने एक बम प्लांट किया। बाकी चार आरोपियों ने बम बनाने की सामग्री जुटाई। एसपी ने बताया कि संयोगवश वह बम ठीक से नहीं फटा और कुछ नुकसान नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी शहजाद है, जो फरार है। उसके पकड़ने के बाद ही पता चल पाएगा कि बम बनाना कैसे सीखा। पकडे गए तीनों आरोपियों ने बम बनाने की विधि पुलिस को बताई है, लेकिन 'दैनिक भास्कर' सुरक्षा कारणों से उसको यहां नहीं बता रहा है।

खबरें और भी हैं...