शामली में नॉमिनेशन भरने जा रहा सपा प्रत्याशी गिरफ्तार:विधायक नाहिद हसन को भेजा जेल, गैंगस्टर में कोर्ट ने भगोड़ा घोषित किया था

शामली7 दिन पहले
सपा प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी गैंगस्टर एक्ट मामले में की गई है।

शामली में सपा प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी गैंगस्टर एक्ट मामले में की गई है। बताया जा रहा है कि नाहिद हुसैन नॉमिननेशन फाइल करने जा रहा था तभी पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस ने उसे फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया है। सोमवार को सरकारी वकील और नाहिद के वकील इस मामले में कोर्ट में अपना पक्ष रखेंगे। सुनवाई के दौरान पुलिस फोर्स और पीएसी मौजूद रही। सपा प्रत्याशी पर करीब 17 मुकदमे दर्ज हैं।

बता दें, 2019 में शामली की विशेष अदालत ने नाहिद को भगोड़ा घोषित किया था और पूरे एरिया में मुनादी करवाई थी। सितंबर 21 में उन्होंने कोर्ट में सरेंडर किया था, कुछ घंटों के बाद उन्हें जमानत मिल गई थी। पुलिस ने उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट भी लगा दिया था।

कैराना कांड मामले में फरार चल रहा था

हाल ही में सपा और राष्ट्रीय लोक दल गठबंधन ने 29 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की है। इसमें कैराना से विधायक नाहिद हसन का भी नाम है। नाहिद कैरानाकांड मामले में फरार चल रहा था। 2016 में कैराना कांड सामने आया था। भाजपा के तत्कालीन सांसद हुकुम सिंह ने आरोप लगाया था कि सपा सरकार में कैराना से हिंदू पलायन कर रहे हैं। कैराना मुस्लिम बाहुल्य इलाका है।

पूर्व विधायक मुनव्वर हसन के बेटे हैं नाहिद

नाहिद हसन पूर्व विधायक मुनव्वर हसन के बेटे हैं। गैंगस्टर एक्ट लगने के बाद से भूमिगत हो गया था। नाहिद की मां तबस्सुम पूर्व सांसद हैं। उन्होंने 2018 के उप चुनाव में कैराना से चुनाव जीता था। इसके अलावा मेरठ के किठौर से पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर को भी टिकट मिला है। ​

जाटों पर विवादित टिप्पणी कर सुर्खियों में आया नाम

वर्तमान में सपा विधायक नाहिद हसन कृषि कानूनों के खिलाफ हो रही महापंचायतों में नजर आते हैं। बीते साल उन्होंने एक विवादित बयान देकर पश्चिमी यूपी की मुस्लिम-जाट सियासत में नया बखेड़ा कर दिया था। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा था कि जाटों की दुकानों से सामान खरीदना बंद कर दें। उन्होंने मुसलमानों से एकजुट रहने व मुसलमान कारोबारियों को ही बढ़ाने का संदेश दिया था।