शामली में रालोद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन:कहा- भाजपा से आए हुए को दिया गया टिकट, जिसने अजीत सिंह की हार पर किया था डांस

शामली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शामली में रालौद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन - Dainik Bhaskar
शामली में रालौद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

शामली में रालोद के टिकट को लेकर विधानसभा सीट पर रालोद कार्यकर्ताओं व पूर्व विधायक ने पंचायत बुलाकर अपना विरोध जताया है। पुराने रालोद कार्यकर्ताओं का साफ तौर से कहना है कि जो बीजेपी से आया उस को टिकट दिया है। जिसने पूर्व में चौधरी अजीत सिंह की हार पर ढोल नगाड़ों पर डांस किया था तो वहीं रालोद के कुछ लोगों ने निर्दलीय उम्मीदवार लड़ने की भी आवाज बुलंद की है वहीं रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर पैसे लेकर टिकट देने का भी आरोप लगाया है ।

प्रशन चौधरी के टिकट पर है हंगामा

यूपी के विधानसभा चुनाव को लेकर जहां रालोद और सपा का गठबंधन है तो वही शामली और थानाभवन विधानसभा सीट रालोद के खेमे में है। जिसको लेकर रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सात आठ महीने पहले आए बीजेपी छोड़कर प्रशन चौधरी को टिकट देकर शामली विधानसभा के लिए उम्मीदवार घोषित किया है। तो वही प्रशन चौधरी के टिकट की घोषणा होने के बाद ही पुराने रालोद कार्यकर्ताओं व पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल द्वारा इसका पूरा विरोध हो रहा है।

लोग बोले- पैसे देकर लिया है टिकट

जिसको लेकर पहले रालोद के बैनर तले विधानसभा शामली से चुनाव लड़ चुके विजेंद्र मलिक निवासी केवड़ा के घर पर एक पंचायत का आयोजन किया गया जहां पर आसपास के जिम्मेदार व रालोद नेता मौजूद रहे पंचायत में जिला पंचायत सदस्य व पूर्व विधायक व ग्राम क्षेत्र के रालोद प्रतिनिधि प्रधान भी रहे ।उन्होंने एकजुट होकर रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा दिए गए टिकट का विरोध जताया है तो वहीं उन्होंने पैसे लेकर टिकट देने का इशारा किया है पंचायत में रालोद नेता व पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल कहा कि अगर राष्ट्रीय अध्यक्ष किसी लाला को टिकट नहीं देता । तो जाट को टिकट उनको देना चाहिए था जो पुराने कार्यकर्ता हैं।

अजीत सिंह के हारने पर किया है डांस

जिन्होंने उस दौरान रालोद का साथ दिया जब कोई इसके बैनर पर चुनाव लड़ने वाला नहीं था। अब बीजेपी से आने वाले लोगों को टिकट देकर हमारा घोर अपमान किया है और यह वह व्यक्ति है जो स्वर्गीय चौधरी अजीत सिंह के हारने पर बीजेपी में होने के दौरान ढोल नगाड़ों पर नाचा था ।