UP के शामली में दर्दनाक हादसा:पटाखा फैक्ट्री में धमाके से 4 की मौत; अचार की फैक्ट्री में तैयार हो रही थी आतिशबाजी, 4 की हालत नाजुक

शामली2 महीने पहले
पटाखा फैक्ट्री का मालिक राशिद फरार। मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालने में लगी पुलिस।

उत्तर प्रदेश के शामली के कस्बा कैराना में अवैध पटाखा फैक्ट्री में शुक्रवार दोपहर करीब 4 बजे तेज धमाका हो गया। हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। 4 गंभीर घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। धमाके के वक्त फैक्ट्री में 12 मजदूर काम कर रहे थे।

शामली SP सुकीर्ति माधव ने बताया कि कुछ मजदूरों के मलबे में दबे होने की आशंका है। उनका रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। फैक्ट्री मालिक राशिद अभी फरार है। राशिद के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस है या नहीं, इसकी जांच की जा रही है। ​​​​​डीएम जसजीत कौर, एसडीएम कैराना उद्भव त्रिपाठी और SSP अन्य अधिकारियों के साथ मौके पर हैं। अधिकारियों का कहना है कि जिन मजदूरों की मौत हुई है, उनकी शिनाख्त की कोशिश की जा रही है।

पानीपत का राशिद चला रहा है फैक्ट्री
अफसरों ने बताया कि यह फैक्ट्री पानीपत का रहने वाला राशिद चला रहा है। पहले यहां कैराना के इकबाल की जंगल में अचार बनाने की फैक्ट्री थी। यह कई सालों से बंद पड़ी थी। इकबाल ने करीब डेढ़ महीने पहले राशिद को फैक्ट्री लीज पर दी थी। राशिद करीब 15 दिन से इसमें अवैध रूप से पटाखे बनवाने लगा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, धमाका हुआ तो फैक्ट्री भरभरा कर गिर गई।

शामली SP सुकीर्ति माधव ने बताया कि कुछ मजदूरों के मलबे में दबे होने की आशंका है। उनका रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।
शामली SP सुकीर्ति माधव ने बताया कि कुछ मजदूरों के मलबे में दबे होने की आशंका है। उनका रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

विस्फोट का गाजियाबाद में भी दिखा असर
उधर, गाजियाबाद के फर्रुखनगर के टीला मोड़ इलाके में एसडीएम लोनी ने छापेमारी की। कई घरों से लाखों की कीमत के पटाखे जब्त किए गए हैं। 4 ट्राॅली भरकर सामग्री बरामद हुई है। बताया जा रहा है कि छापेमारी अभी जारी है। यहां घरों में छिपाकर पटाखे रखे गए हैं।

अचार बनाने की फैक्ट्री में हो रहा था पटाखे बनाने का काम। विस्फोट के बाद मलबे में दबे 4 लोगों के निकाले गए शव।
अचार बनाने की फैक्ट्री में हो रहा था पटाखे बनाने का काम। विस्फोट के बाद मलबे में दबे 4 लोगों के निकाले गए शव।

साल भर पहले हुआ था हादसा
शामली में दिल्ली-सहारनपुर हाईवे पर कांधला इलाके में 31 जनवरी 2020 को एक फैक्ट्री में ऐसा ही विस्फोट हुआ था, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी। जिनकी शिनाख्त निर्मला देवी (35) पत्नी श्यामलाल, नरेसो देवी (40) पत्नी रामपाल, शैंकी (22) पुत्र राजेन्द्र, सरस्वती देवी (45) पत्नी वीरेंद्र और इंतजार (50) के रूप में हुई थी।

खबरें और भी हैं...