श्रावस्ती में कृषि गोष्ठी का आयोजन:कृषि वैज्ञानिकों ने बताए उन्नत खेती के गुण, भाजपा विधायक ने कहा- गांव का किसान रहेगा खुशहाल तो देश में आएगी खुशहाली

श्रावस्ती3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रावस्ती में कृषि गोष्ठी का आ - Dainik Bhaskar
श्रावस्ती में कृषि गोष्ठी का आ

श्रावस्ती जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वें जन्मदिन पर विकास भवन सभागार में कृषि गोष्ठी का आयोजन किया गया। कृषि विज्ञान केंद्र एवं कृषि विभाग के सहयोग से पोषण वाटिका महाभियान एवं वृक्षारोपण विषय पर इस कृषि गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में पहुंचे भाजपा विधायक ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है। यदि गांव का किसान खुशहाल रहेगा तो निश्चित ही समाज के साथ प्रदेश एवं देश में खुशहाली आएगी।

सरकार किसानों के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध

भाजपा विधायक ने कहा कि उत्पादन एंव उत्पादकता में वृद्धि हेतु कृषि वैज्ञानिकों के संरक्षण में उनके द्वारा बताए गए वैज्ञानिक तरीकों को अपनाकर खेती करें, जिससे देश कृषि के मामले में आत्मनिर्भर हो सके। इसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषकों की आय दोगुनी करने का सपना साकार हो सकेगा। भाजपा विधायक ने कहा कि आर्थिक समृद्धि के सोपान पर पहुंचने के लिए विषमुक्त प्राकृतिक खेती को अपनाएं और फसल सघनता बढ़ाएं। विधायक ने कहा कि देश एवं प्रदेश सरकार की सरकार किसानों के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध है, जिसके लिए सरकार द्वारा किसानों के हित में तमाम योजनाओं का संचालन किया जा रहा है।

वैज्ञानिक विधि से खेती करें किसान

वहीं मुख्य विकास अधिकारी ने किसानों के हित में सरकार द्वारा तमाम योजनाओं का संचालन किए जाने की किसानों को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से किसान भाइयों को लाभ भी मिल रहा है, जिससे उनके जीवन स्तर में बदलाव भी आया है। किसान परम्परागत खेती के साथ-साथ आधुनिक एवं वैज्ञानिक विधि से खेती के लिए आगे बढ़ रहे हैं। किसान अधिक से अधिक उत्पादन कर लाभ उठाएं।

पोषण वाटिका महाभियान एवं वृक्षारोपण पर दी जानकारी

इस अवसर पर उपनिदेशक कृषि कमल कटियार ने विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए औषधीय गुणों से भरपूर पौधों के उपयोग की चर्चा की। कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डॉ. आरपी.एस रघुवंशी ने कृषि विज्ञान केंद्र के महत्व एंव उसके मापदण्डों की चर्चा की। उन्होंने भविष्य में ऐसी रणनिति बनाने का संकल्प लिया, जो जनपद के कृषक उत्थान में कारगर साबित हो सके। उन्होंने पोषण वाटिका महाभियान एवं वृक्षारोपण पर कृषकों को तकनीकी की जानकारी भी प्रदान की।

खबरें और भी हैं...