आयुष्मान कार्ड से जिंदगी में आई खुशियां:बुजुर्ग का निजी अस्पताल में रीढ़ की हड्डी का हुआ मुफ्त ऑपरेशन, सरकार ने उठाया पूरा खर्च

श्रावस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रावस्ती में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान का लोगों को लाभ मिल रहा है। इसके तहत बनने वाले आयुष्मान कार्ड गरीब और जरूरतमंद बच्चों के लिए वरदान साबित हो रहे हैं। इस कार्ड के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग गंभीर रूप से बीमार लोगों का मुफ्त इलाज कर रहा है। साथ ही उन्हें नया जीवन देने का काम कर रहा है। कुछ ऐसी ही कहानी है 67 वर्षीय स्वामी नाथ की है।

बलरामपुर जिले के रहने वाले स्वामी नाथ को रीढ़ की हड्डी में काफी समस्या थी। जिस कारण उनके दोनों पैर नहीं उठते थे। जिससे उनका उठना-बैठना और चलना-फिरना मुश्किल हो गया था। उन्होंने कई निजी चिकित्सकों को दिखाया। चिकित्सकों ने उन्हें जल्द ही ऑपरेशन कराने की सलाह दी। इसमें अनुमानित 90,000 रुपए का खर्च भी बताया।

आयुष्मान कार्ड वरदान साबित हो रहा
एक गरीब परिवार के लिए इस धनराधि की व्यवस्था करना बेहद कठिन काम था। संकट की इस घड़ी में यह आयुष्मान कार्ड उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं था। इसी कार्ड के माध्यम से श्रावस्ती जिले के इकौना कस्बे के एक निजी अस्पताल में उनकी रीढ़ की हड्डी का नि:शुल्क सफल ऑपरेशन कराया गया।

पूरा खर्च सरकार द्वारा वहन किया गया
इस ऑपरेशन पर कुल 85,000 रुपए का खर्च आया। यह पूरा खर्च सरकार द्वारा वहन किया गया। अब स्वामी नाथ पूरी तरह से स्वस्थ हैं। वह बिना किसी सहारे के चल-फिर भी रहे हैं। स्वामी नाथ का कहना है कि केंद्र सरकार की यह योजना हम गरीब परिवारों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

खबरें और भी हैं...