श्रावस्ती में ओमीक्रॉन को लेकर सतर्कता बढ़ी:सीएमओ बोले- गंभीर बीमारी से ग्रसित व कमजोर इम्युनिटी वाले रखे खास ख्याल

श्रावस्ती6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रावस्ती में ओमीक्रॉन से बचने की सीएमओ ने दी सलाह। - Dainik Bhaskar
श्रावस्ती में ओमीक्रॉन से बचने की सीएमओ ने दी सलाह।

श्रावस्ती में ओमीक्रोन वैरियंट को लेकर लोगों को किसी भी तरह से घबराने नहीं बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है।मजबूत रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) ओमीक्रोन से सुरक्षा प्रदान करेगी। ऐसे में जो लोग पहले से किसी गंभीर बीमारी की गिरफ्त में हैं, जिनकी इम्युनिटी कमजोर है, उन्हें विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। संक्रमण को रोकने के लिए सभी के लिए कोविड प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य है।

अस्पतालों में आरक्षित हो चुके हैं बेड

जिले के सीएमओ डॉ एपी भार्गव ने कहा कि ओमीक्रोन से निपटने के लिए लगातार तैयारियां की जा रही हैं। संयुक्त जिला चिकित्सालय अस्पताल और सीएचसी पर वार्ड और बेड को आरक्षित किया जा चुका है। साथ ही ओमीक्रोन से निपटने के लिए आशा और एएनएम को इस बात के लिए प्रशिक्षित भी किया गया है कि मुश्किल दौर में सीमित संसाधनों के साथ किसी भी चुनौती से किस तरह से निपटना है।

वक्त-वक्त पर लेते रहें डॉक्टर की सलाह

इसके अलावा समय-समय पर ऑनलाइन मीटिंग कर विशेषज्ञों द्वारा जरूरी जानकारी दी जा रही है। उसी के मुताबिक जिले में भी तैयारियां की जा रही हैं। सीएमओ ने बताया कि डेल्टा वैरियंट का बदला हुआ रूप ओमीक्रोन है। जिन लोगों की इम्युनिटी अच्छी है, या जिन्हें कोई गंभीर बीमारी जैसे शुगर, बीपी, टीबी, लीवर, किडनी की समस्या नहीं है, उनके लिए ओमीक्रोन किसी भी तरह का संकट नहीं पैदा करेगा। स्वस्थ लोगों में ओमीक्रोन के लक्षण या तो नजर ही नहीं आएगें, या काफी हल्के लक्षण नजर आएगें। उन्होंने बताया कि जिन लोगों की शुगर, बीपी, टीबी, लीवर, किडनी, सांस फूलने की बीमारी से संबंधित दवाएं चल रही हैं, वह विशेष ध्यान रखें। दवाएं नियमित रूप से लें खाएं व इम्युनिटी बढ़ाने के लिए चिकित्सक की सलाह पर आहार लेते रहें। रोग की समस्या को किसी भी तरह से बढ़ने न दें। स्वस्थ शरीर किसी भी रोग से लड़ने में सक्षम होता है।