डीएम ने प्राथमिक विद्यालय बगुरैया का किया निरीक्षण:कहा- विद्यालयों में कमी मिलने पर प्रधानाध्यापक और खण्ड शिक्षा अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

श्रावस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रावस्ती की जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने प्राथमिक विद्यालय बगुरैया का आकस्मिक निरीक्षण किया।उन्होंने विद्यालय में अध्यापकों की उपस्थिति और नामांकन के सापेक्ष छात्र-छात्राओं की उपस्थिति की जांच की। साथ ही प्रधानाध्यापक को निर्देश दिया कि पंजीकृत छात्र-छात्राओं की शत-प्रतिशत उपस्थिति करायें।

डीएम ने कहा कि यदि कोई छात्र या छात्रा नामांकन के बाद स्कूल नहीं आ रहे हैं तो उनके अभिभावक से बात करें और उनको स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करें। जिससे कोई भी छात्र-छात्रा शिक्षा से वंचित न रहे। जिलाधिकारी ने छात्र-छात्राओं से बात शिक्षा की। साथ ही विद्यालय में बने मध्याह भोजन की गुणवत्ता जांची।

बच्चों को यूनीफार्म में स्कूल भेजें अभिभावक
डीएम के निरीक्षण के दौरान स्कूल के छात्र-छात्राएं यूनीफार्म में नहीं थे। जिस पर उन्होंने अविभावकों को अपने बच्चों को यूनीफार्म में स्कूल भेजने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने विद्यालय परिसर में साफ-सफाई, किचन, पेयजल, अग्निशमन यंत्र, शौचालय आदि व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सभी व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

अभिभावकों के विश्वास पर खरे उतरें गुरुजन
डीएम ने कहा कि सरकार बच्चों के अभिभावक की भूमिका निभाकर उन्हें निशुल्क पाठ्य पुस्तक, जूता-मोजा, स्कूल बैग और मध्याह्न भोजन मुहैया करा रही है। जिससे कोई भी बच्चा शिक्षा के उजियारे से वंचित न रहे। गुरुजन भी नौनिहालों को गुणवत्तापूर्ण ढंग से शिक्षित कर उनके भाग्य को संवारे और अभिभावकों के विश्वास पर खरे उतरें।

विद्यालयों का किया जाएगा निरीक्षण
जिलाधिकारी ने बीएसए से लेकर खण्ड शिक्षा अधिकारियों को विद्यालयों का निरीक्षण कर सभी व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि समय-समय पर विद्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया जाएगा। यदि निरीक्षण के दौरान विद्यालयों में कोई कमी मिली तो विद्यालयों के प्रधानाध्यापक से लेकर खण्ड शिक्षा अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...