सीमा पर गश्त बढ़ाएंगे भारत और नेपाल:तस्करों को पकड़ने के लिए बनाई रणनीति, वन्य जीवों की भी होगी रक्षा

श्रावस्ती5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रावस्ती जनपद पड़ोसी राष्ट्र नेपाल की सीमा से लगा हुआ जनपद है। जिसकी निगरानी एसएसबी और लोकल पुलिस के द्वारा की जाती है। एसएसबी सीमा क्षेत्र पर काफी सतर्क होकर निगरानी करती है। ताकि कोई भी गतिविधि ना हो सके। यहां पर कई एरिया ऐसे भी हैं जहां पर जंगल मौजूद हैं। इसको लेकर नेपाल APF और एसएसबी श्रावस्ती समय समय पर समन्वय बैठक कर वार्ता करती है। वहीं जॉइंट पेट्रोलिंग और सुरक्षा संबंधी वार्ता भी करते हैं ताकि किसी भी चुनौती से निपटा जा सके।

बैठक करते हुए नेपाल और भारत के कंमाडेंट।
बैठक करते हुए नेपाल और भारत के कंमाडेंट।

APF और SSB की हुई बैठक

जनपद में रवींद्र कुमार राजेश्वरी कमांडेंट 62वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल भिनगा की अध्यक्षता में "ई" समवाय भैसाई नाका में नेपाल APF और SSB के साथ में समन्वय बैठक का आयोजन किया गया। वहीं बैठक के दौरान निम्न बिंदुओं पर वार्ता की गई। जिनमें सीमा पर गस्त की संख्या बढ़ाने को लेकर बात की गई। तस्करों को पकड़ने के लिए आपसी समन्वय और नई रणनीत का इस्तेमाल करने पर जोर दिया गया। वहीं वन और वन्य जीव की रक्षा के लिए ज्यादा से ज्यादा गस्त पर भी आपसी सहमति बनी। इसके साथ ही खेल को बढ़ावा एवं दोनों पक्षों के बलों के मध्य वॉलीबॉल या अन्य खेल का आयोजन होना चाहिए। जिससे जवान तनाव मुक्त होकर अपने कार्य को सुचारू रूप से कर सकें।

दोनों देश करेंगे ज्वाइंट पेट्रोलिंग

वही दोनों देशों के मध्य किसी भी प्रकार की आंतरिक उथल पुथल की खबर को एक दूसरे के साथ बांटने से किसी भी अप्रिय घटनाओं से बचा जा सकता है। इस विषय पर भी चर्चा की गई समय समय पर ज्वाइंट पेट्रोलिंग भी करते रहने की सलाह दी गयी। जिससे सीमा स्तंभों की उचित ढंग से निगरानी की जा सके।अंत में अगले बैठक की तारीख को सुनियोजित करके बैठक का समापन किया गया। वहीं इस दौरान निरीक्षक सामान्य ओमकार व APF कैंप भैसाही के कमांडर उप निरीक्षक पद्म बहादुर व अन्य कार्मिक उपस्थित रहे ।

खबरें और भी हैं...