बाँसी में वकील ने काटा बवाल:तहसीलदार कोर्ट में फाइल के नाम पर प्राइवेट कर्मचारियों के पैसा वसूलने से था नाराज़

बाँसी5 दिन पहले

सिद्धार्थनगर जिले के बाँसी तहसीलदार कोर्ट में फाइल के नाम पर प्राइवेट कर्मचारी द्वारा पैसा वसूलने का मामला सामने आया है ।जिसको लेकर कोर्ट परिसर में प्राइवेट कर्मचारी द्वारा पैसा लेने के विरोध वकील ने हंगामा काटा। मामला बढ़ता देख अन्य वकीलों द्वारा मामले को कराया शांत कराया। जानकारी के मुताबिक बांसी तहसीलदार कोर्ट में प्राइवेट कर्मचारी द्वारा काम लिया जाता है।वहां रोजाना वकीलों से मुकदमे की फाइल के नाम पर 50 से ₹100 की धन उगाही प्राइवेट कर्मचारी करते हैं।

वहीं इसी बात को लेकर वकील ने तहसीलदार कोर्ट में हंगामा करता नजर आया ।वहीं वकील का सीधा कहना था कि फाइल के नाम पर रोजाना पैसे की वसूली की जाती है। और 4 लोग यहां ऐसे हैं। कि जो बिना कर्मचारी के यहां रोज आते हैं। इस मामले मे कर्मचारी ने बताया कि डेढ़ सौ रुपया प्रति मिलता है। इस तरह यह कोर्ट परिसर में पैसा देकर के कोई भी व्यक्ति कोई भी काम बड़ी आसानी बसे करा लेता है,क्योंकि यहां पर जो कोर्ट का मामला है।

यहां पर अधिकारी इस मामले को संज्ञान में भी नहीं लेते हैं। यहां पर दलालों का पूरी तरह से यह परिसर अड्डा बना हुआ है ।इसकी वजह है कि यहां पर अधिकारियों का कोई अंकुश नहीं है। प्राइवेट कर्मचारी अपने मनमानी से काम करते हैं।वकील यहां पर परेशान होते रहते हैं।मामला बढ़ता देख अन्य वकीलों ने पहुंचकर मामले को पूरी तरह से शांत कराया गया। वकील अतीकउर रहमान ने बताया कि एक सुलहनामा था, उसका दस्तावेज तहसीलदार कोर्ट में फीड करने के लिए कर्मचारी को दिए थे कि मुकदमा नंबर चढ़ जाए।

जिससे सम्मन कटकर विपक्षी के पास जाए आपत्ती के लिए मौका दिया जाता है। फीड करने के लिए दिए 4 महीना हो गया। जिसके लिए ढाई सौ रुपये भी दिए थे। अभी तक फीड नहीं हुआ। यहां पर एक प्राइवेट मुंशी हैं। जिनका नाम हरि है वही फीड करता है। जिसका कहना है जब तक पैसा नहीं मिलेगा फीड नहीं करेंगे। इस मामले को लेकर आला अधिकारियों से शिकायत की जाएगी।

खबरें और भी हैं...