इटवा में मानदेय को लेकर आशा कार्यकत्रियों ने किया प्रदर्शन:बोली- पांच महीनों से नहीं हुआ भुगतान, सांसद बोले- जल्द होगा समस्या का समाधान

इटवा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सिद्धार्थनगर के इटवा नगर में रविवार को मानदेय भुगतान को लेकर आशा कार्यकत्रियों प्रदर्शन किया। उन्होंने ने बताया कि अप्रैल महीने से उन लोगों को मानदेय नहीं मिला है। कुछ आशाओं के खाते में सिर्फ दो महीने का मानदेय आया है। जबकि पांच महीने का मानदेय लंबित है।

आशाओं ने इटवा पहुंचे डुमरियागंज सांसद जगदंबिका पाल को अपनी समस्या बताई। कहा कि पांच-पांच महीनों से भुगतान न होने से वे लोग आर्थिक संकट से जूझ रही हैं। बार-बार मांग के बाद भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

सांसद ने कहा- जल्द होगा समस्या का समाधान

आशा कार्यकत्रियों ने समस्या से सांसद को अवगत कराया। कहा कि भुगतान नहीं हुआ तो आने वाला दशहरा पर्व फीका हो जाएगा। समस्या पर सांसद जगदंबिका पाल गंभीर दिखे।उन्होंने तुरंत मुख्य चिकित्साधिकारी से पूरी जानकारी ली। कहा कि राष्ट्रीय कार्यक्रमों में आशा कार्यकत्री सक्रिय भूमिका निभाती आ रही हैं। किसी भी स्थिति में इनकी उपेक्षा अथवा उत्पीड़न नहीं होना चाहिए। आशाओं से कहा कि सभी लोग धैर्य रखें। विभागीय अधिकारियों से बात हुई है। शीघ्र समस्या का समाधान होगा।

नई प्रक्रिया के कारण आई थोड़ी दिक्कत : सीएमओ

सीएमओ डॉ बी.के अग्रवाल ने बताया कि शासन की ओर से नई प्रक्रिया लागू की गई है, इसकी वजह से दिक्कत हुई है। पहले ब्लाक स्तर से भुगतान हो रहा था। अप्रैल से ऐसी व्यवस्था बनी है कि मानदेय से संबंधित कागज बनकर जिले पर आएंगे। इसके बाद उसे बैंक पर भेजा जाएगा। इधर दो महीने का भुगतान आया था, जल्दी ही शेष मानदेय का भुगतान भी हो जाएगा। किसी का भी मानदेय भुगतान लंबित नहीं रहेगा।

इस मौके पर लोग रहे मौजूद

मानदेय को लेकर आवाज उठाने वालों में पुष्पा, पूनम, सुशीला, मनोरमा, लक्ष्मी, मेनका, सुनीता सिंह, शकुंतला, पूनम सिंह सहित बड़ी संख्या में आशा कार्यकत्री मौजूद रहीं। इसके अलावा सांसद के साथ भाजपा कार्यकर्ता, पदाधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...