इटवा में शिक्षकों का आयोजित हुआ प्रशिक्षण कार्यक्रम:संचारी रोग नियंत्रण अभियान के प्रति लोगों को करेंगे जागरूक

इटवा, सिद्धार्थनगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इटवा में शुक्रवार को खंड विकास कार्यालय स्थित सभागार में एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। जिसमें परिषदीय विद्यालय के शिक्षकों को संचारी रोग नियंत्रण अभियान के बारे में प्रशिक्षित किया गया। शिक्षकों को विद्यालयों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण में खंड शिक्षाधिकारी ओम प्रकाश मिश्र ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान में शिक्षकों की भूमिका तय की गई है। सभी लोग इसका पालन सुनिश्चित कराएं। प्रत्येक स्कूल में एक शिक्षक को नोडल बनाना है। जो सारी गतिविधियों को बताते हुए उस पर नजर रखेंगे।

हर दिन प्रार्थना स्थल पर बच्चों को एईएस का संदेश बताएं। विशेषकर सुरक्षित पीने का पानी, शौचालय का प्रयोग और खुले में शौच से होने वाले नुकसान के बारे में बताएं। सप्ताह में एक दिन शनिवार को बच्चों के साथ सामुदायिक गतिविधियों पर चर्चा करें। प्रभात फेरी, रैली, जागरूकता से संबंधित नारे लगाए जाएंगे।

1 से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जाना है।
1 से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जाना है।

एईएस के लक्षण के प्रति रहें सतर्क

प्रशिक्षण में ब्लाक समन्वयक यूनिसेफ रिजवान अंसारी ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान में विभिन्न विभागों की जिम्मेदारी तय की गई है। इसमें शिक्षा विभाग की भूमिका महत्वपूर्ण है। जागरूकता कार्यक्रमों के साथ एईएस के लक्षण के प्रति सभी सतर्क रहें। तेज और लगातार बुखार बने रहना, सुस्त होना, दांत पर दांत बैठना, शरीर में झटके आना, कोमा या बेहोशी, चिकोटी काटने पर शरीर मे हरकत न होना आदि लक्षण हैं। यदि किसी में ये लक्षण दिखाई दें तो तुरंत नजदीक के अस्पताल से संपर्क करें। पहली से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलना है।

बैठक में ब्लॉक के कई अधिकारी मौजूद रहे।
बैठक में ब्लॉक के कई अधिकारी मौजूद रहे।

ये लोग रहे मौजूद

प्रशिक्षण में बीसीपीएम शिव शंकर वरुण, एआरपी कपिल तिवारी, हरिश्चंद्र, अजीत पटेल, अजय पांडेय, आनंद विक्रम सिंह, मनोज कुमार, ननद किशोर, रविन्द्र चौधरी, राजेश, अवध राम, सुशील सहित बड़ी संख्या में शिक्षकगण उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...