शाहपुर-भोजपुर बांध पर हो रहे कार्य का हुआ निरीक्षण:जिलाधिकारी ने कहा- धीमी मिली एप्रोच कार्य की गति, शीघ्र ही सभी कार्य कराने के निर्देश

इटवा (सिद्धार्थनगर)3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इटवा। जिलाधिकारी संजीव रंजन ने शनिवार की सायं शाहपुर-भोजपुर बांध पर हो रहे बाढ़ निरोधक और बचाव कार्य का निरीक्षण किया। सिंगारेजोत में एप्रोच कार्य को भी देखा। जहां गति धीमी मिली। गागपपुर में कटान स्थल पर हो रहे कार्यों की हकीकत भी देखी। सभी कार्यों को शीघ्र ही पूर्ण कराने संबंधित हिदायत दी। डीएम ने कहा कि वर्षा का मौसम निकट है, इसलिए जितनी जल्दी हो रहे कार्य को पूरा करा लें।

सिंगारजोत में बंधे के कार्य को देखा
जिलाधिकारी जब सिंगारजोत पहुंचे, तो वहां कार्य निर्माणाधीन मिला। यहां बाढ़ निरोधक कार्य की कड़ी में बंधे को ऊपर करने, गैप भरने एवं ठोकर आदि कार्य हो रहा था। विभागीय अधिकारियों से ताजा स्थिति की जानकारी ली। बताया गया कि काम तेजी से कराया जा रहा है, उम्मीद है कि इस महीने के अंत में कार्य पूर्ण हो जाए। डीएम ने कहा कि जो कार्य हो रहे हैं, निरंतर इनकी निगरानी की जाए और बरसात से पहले इसको पूर्ण करा लिया जाए। यहां जर्जर एप्रोच कार्य को देखा और कार्य की गति तेज करने के निर्देश दिए।​​​​​​​

डीएम ने शाहपुर-भोजपुर बांध पर हो रहे कार्य का किया निरीक्षण।
डीएम ने शाहपुर-भोजपुर बांध पर हो रहे कार्य का किया निरीक्षण।

गागापुर के गैप का निरीक्षण
जिलाधिकारी, सिंचाई विभाग के अधिकारियों, एसडीएम अभिषेक पाठक व तहसीलदार डा. संजीव दीक्षित के साथ गागापुर पहुंचे। शाहपुर-भोजपुर बंधे में जो गैप हैं, उसमें एक गैप गागापुर का है, जिसको भरने का काम होता मिला। कुछ भूमि विवाद की बात सामने आई। जिसको बातचीत के माध्यम से हल करने और कार्य पूर्ण कराने की हिदायत दी गई।

अधिशासी अभियंता ने दी जानकारी
निरीक्षण के दौरान सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता आर के सिंह ने बताया कि कुल 3200 मीटर का गैप था, इसमें 2000 मीटर गैप भरे जा चुके हैं। शेष कार्य प्रगति पर है। निरीक्षण के बीच कुछ ग्रामीणों ने बताया कि सड़क उच्चीकरण होने की वजह से हाइटेंशन तार नीचे आ गया है, जिससे कभी भीड़ दुर्घटना हो सकती है। जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को समस्या समाधान हेतु निर्देशित किया।

खबरें और भी हैं...