नदियों में मूर्ति विसर्जन पर प्रशासन ने लगाया रोक:राप्ती नदी के तट पर बनाए गए अस्थायी सरोवर में किया जाएगा विसर्जन

सिद्धार्थनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिद्धार्थनगर में नदियों का पानी प्रदूषित न हो इसके लिए गंगा सहित अन्य नदियों में मूर्ति विसर्जन पर प्रशासन ने रोक लगाया है। मूर्ति विसर्जन के लिए राप्ती नदी के तट पर अस्थायी सरोवर बनवाया गया है। जिसमें राप्ती नदी से ही बोरिंग लगाकर पानी भरा गया है। इसी में देवी भक्त प्रतिमा का विसर्जन करेंगे।

उप जिलाधिकारी कुणाल ने बताया कि न्यायालय के आदेश और मूर्ति विसर्जन में हो रही दुर्घटनाओं को देखते हुए अस्थायी सरोवर बनाया गया है। जिसमें सभी मूर्ति का विसर्जन किया जायेगा। इस बार बारिश देर से होने के कारण राप्ती नदी का जल स्तर बढ़ा है और बहाव बहुत तेज है। सभी से इसमें सहयोग की अपेक्षा है। नियमों का पालन करना हर जिम्मेदार नागरिक का नैतिक कर्तव्य है।

सिद्धार्थनगर में राप्ती नदी के तट पर बनाया गया अस्थायी सरोवर।
सिद्धार्थनगर में राप्ती नदी के तट पर बनाया गया अस्थायी सरोवर।

सभी से सरोवर में प्रतिमा विसर्जन की अपील
नामित सभासद राजीव अग्रहरि ने बताया कि एनजीटी की गाइडलाइन व शासनादेश के अनुपालन में माता दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन हेतु राप्ती नदी के दाएं तट सरोवर बनाया गया है। इस वर्ष प्रतिमाओं का सम्मान पूर्वक विसर्जन सरोवर में किया जाएगा। प्रशासन सभी लोगों से अपील कर रहा है कि शासन के निर्देश के क्रम में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए सभी लोग बनाए गए सरोवर में प्रतिमा का विसर्जन करें।

खबरें और भी हैं...