सिद्धार्थनगर में दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल:33 टॉपर छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल किया प्रदान, कहा- स्कूल दूर हो या पास; बच्चियों को जरूर भेजें

सिद्धार्थनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिद्धार्थनगर में दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभा को संबोधित। - Dainik Bhaskar
सिद्धार्थनगर में दीक्षांत समारोह में पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभा को संबोधित।

सिद्धार्थनगर जिले में सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी का पांचवां दीक्षांत समारोह रविवार को आयोजित हुआ। इस दीक्षांत समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल पहुंची। उन्होंने 33 टॉपर छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल प्रदान किया। शिक्षक और दीक्षा प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राएं अपने विशेष वेशभूषा में पहुंचे। इस मौके पर गोल्ड मेडल पाने वाले छात्र छात्राओं के चेहरे पर सुखद एहसास दिखा।

बच्चों को एजुकेशन के साथ दी जा रही टेक्निकल एजुकेशन

जिले में हुए समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गोल्ड मेडलिस्ट बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए देश का नाम रोशन करने का आशीर्वाद दिया। कहा कि नई शिक्षा नीति में बहुत सारे बदलाव किए गए हैं। छठवीं कक्षा से बच्चों को पढ़ाई के साथ साथ टेक्निकल एजुकेशन भी दी जा रही है। ताकि एजुकेशन के साथ हुनर सीख कर एनजीओ के माध्यम से लोगों की सेवा करें और अपने साथ-साथ कई लोगों को रोजगार दे सकें। इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर यह शिक्षा नीति बनाई गई है।

विश्वविद्दायल में राज्यपाल के स्वागत की गई जोरदार तैयारी
विश्वविद्दायल में राज्यपाल के स्वागत की गई जोरदार तैयारी
समारोह में सामिल हुए स्कूल के छात्र-छात्रा
समारोह में सामिल हुए स्कूल के छात्र-छात्रा

सरकार हर बच्चे को नौकरी नहीं दे सकती

इससे पढ़ने के बाद नौकरी के लिए इधर-उधर घूमना नहीं पड़ेगा। सरकार सबको नौकरी नहीं दे सकती और यह संभव भी नहीं है। इसलिए बच्चों को टेक्निकल एजुकेशन देते हुए हुनर सिखाना जरूरी है। ताकि वह अपना रोजगार खुद स्थापित कर सकें। साथ ही कहा कि स्कूल दूर हो या पास बच्चियों को शिक्षित करने के लिए उन्हें भेजना ही चाहिए। जब आधी आबादी शिक्षित होगी तभी देश का विकास संभव है। उन्होंने स्थानीय प्राइमरी स्कूल के बच्चों को किताबों से भरा स्कूल बैग वितरित किया।

खबरें और भी हैं...