सिद्धार्थनगर में समिति भवन खंडहर में तब्दील:किराए की बिल्डिंग में हो रहा संचालन, किसानों को बमुश्किल मिल पाता खाद-बीज

सिद्धार्थनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिद्धार्थनगर में साधन सहकारी समितियों के भवन जर्जर होकर खंडहर बन चुके हैं। - Dainik Bhaskar
सिद्धार्थनगर में साधन सहकारी समितियों के भवन जर्जर होकर खंडहर बन चुके हैं।

सिद्धार्थनगर में साधन सहकारी समितियों के भवन जर्जर होकर खंडहर बन चुके हैं। जिस कारण इनका किसानों को लाभ नहीं मिल पा रहा है। किसानों को खाद, बीज और कीटनाशक के लिए भटकना पड़ रहा है। कई बार शिकायतों के बाद इसका समाधान नहीं हो रहा है।

खुनियांव विकास क्षेत्र के बल्लीजोत में किसानों को सुविधा देने के लिए बनी साधन सहकारी समिति अपनी हालत पर आंसू बहा रही है। पूरा भवन खंडहर होकर निष्प्रयोज्य घोषित हो चुका है। किराए के भवन में समिति का संचालन हो रहा है, जहां से कभी-कभार किसानों को खाद मिल जाता है। लेकिन खरीफ और रबी के सीजन में इसे क्रय केंद्र नहीं बनाया जाता। क्रय केंद्र दूर बनाए जाने के चलते किसानों को अपनी उपज औने-पौने भाव बेचनी पड़ती है।

सिद्धार्थनगर में किसानों ने समस्याएं दूर करने की मांग की है।
सिद्धार्थनगर में किसानों ने समस्याएं दूर करने की मांग की है।

जिला प्रशासन को गंभीर कदम उठाने चाहिए

किसान रज्जन पांडेय ने कहा समितियां बदहाल हैं। मगर जिम्मेदार इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। समय रहते इस दिशा में जिला प्रशासन को गंभीर कदम उठाने चाहिए। सन्तोष कुमार ने कहा कि समिति को ठीक करा दिया जाए तो किसानों की दिक्कत दूर हो जाए। विनय चौधरी, जिब्रिल, अनवर और रामप्रताप का कहना है कि समिति भवन न होने से किसानों को परेशानी हो रही है। खाद, बीज और कीटनाशक समय पर नहीं मिल पा रहा है।

जल्द ही समस्या के समाधान का मिला आश्वासन

समिति अध्यक्ष रामसरन ने कहा कि समिति की जर्जरता के बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। जल्द ही समस्या के समाधान का आश्वासन दिया गया है। किसानों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। उन्हें समय पर खाद, बीज और कीटनाशक उपलब्ध कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...