सिद्धार्थनगर में राप्ती तट के किनारे बनाया सरोवर:दुर्गा प्रतिमाओं का यहीं होगा विसर्जन, नगर पंचायत अध्यक्ष ने की सहयोग की अपील

सिद्धार्थनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर पंचायत डुमरियागंज के अध्यक्ष जफर अहमद उर्फ बब्बू ने राप्ती तट के किनारे बनाए गए सरोवर का निरीक्षण किया। - Dainik Bhaskar
नगर पंचायत डुमरियागंज के अध्यक्ष जफर अहमद उर्फ बब्बू ने राप्ती तट के किनारे बनाए गए सरोवर का निरीक्षण किया।

सिद्धार्थनगर में दुर्गा महोत्सव में प्रतिमाओं का विसर्जन इस बार राप्ती या अन्य नदियों में न करके सरोवर में करें। यह अपील नगर पंचायत डुमरियागंज के अध्यक्ष जफर अहमद उर्फ बब्बू ने की है। मंगलवार को वह विसर्जन के लिए बनाए गए सरोवर का निरीक्षण कर रहे थे। डुमरियागंज ब्लाक में 95 मां दुर्गा की प्रतिमाएं स्थापित हैं।

रंगों के रसायन नदियों को करते हैं प्रदूषित

कहा कि सरकार नदियों को स्वच्छ रखने के लिए मुहिम चला रही है। ऐसे में अगर प्रति वर्ष की तरह नदी में प्रतिमाओं का विसर्जन होता है तो जहरीले रंगों के रसायन और अवशेष नदी के जल को प्रदूषित करेंगे। इसलिए इस बार राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण एनजीटी ने सरकार को निर्देशित किया है कि नदी में प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाएं। इसलिए नियम के अनुपालन की जरूरत है।

नगर पंचायत अध्यक्ष ने राप्ती तट के किनारे बनाए गए सरोवर का निरीक्षण किया।
नगर पंचायत अध्यक्ष ने राप्ती तट के किनारे बनाए गए सरोवर का निरीक्षण किया।

अध्यक्ष ने नगर पंचायत कर्मियों के साथ विसर्जन के लिए बन रहे तालाब का निरीक्षण किया। बताया कि मां दुर्गा की प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए राप्ती नदी के दाएं तट पर सरोवर बनाया गया है। इस साल प्रतिमाओं का सम्मान पूर्वक विसर्जन सरोवर में किया जाएगा। प्रशासन लोगों से अपील कर रहा है कि पर्यावरण की सुरक्षा के लिए सरोवर में प्रतिमा का विसर्जन करें। वसीम अहमद, कासिम, सबलू, सुधांश्याु अग्रहरि और सोनू आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...