सपा की बढ़ी मुश्किलें:सिद्धार्थनगर में सैयदा खातून या चौधरी अमर सिंह के ना पर उलझी सपा, टिकट बंटवारे का फंसा पेंच

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सपा की बढ़ी मुश्किलें - Dainik Bhaskar
सपा की बढ़ी मुश्किलें

दल बदल के चलते हैं समाजवादी पार्टी में धर्म संकट उत्पन्न हो गया है। डुमरियागंज, शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में पिछला चुनाव मामूली वोट से हारने वाली बसपा प्रत्याशी सैयदा खातून के सपा में शामिल होने तथा शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक अपना दल के चौधरी अमर सिंह के बीच सपा में शामिल होने से टिकट किसे मिलेगा, यह यछ प्रश्न बन गया है।

भाजपा में मची भगदड़ के चलते शोहरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के सहयोगी दल अपना दल के विधायक चौधरी अमर सिंह ने सपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। अपना दल में रहते अमर सिंह पूरे कार्यकाल तक भाजपा के खिलाफ बोलते रहे तथा भाजपा के विरुद्ध बयान देते रहे। जिसका परिणाम उनका दल बदल कर के सपा में शामिल होना रहा। अब शोहरतगढ़ सीट से सपा के लिए टिकट वितरण कठिन हो गया है। शोहरतगढ़ से अब टिकट के प्रबल दावेदार बन गए हैं। जबकि उग्रसेन सिंह, जो पूर्व मंत्री दिनेश सिंह के पुत्र हैं।

अपना दल छोड़ चौधरी अमर सिंह सपा में शामिल

अब तक वह टिकट पा रहे थे और पिछली बार भी वहीं टिकट पाए थे। इस बार भी उन्हें पूरी उम्मीद थी कि वे ही टिकट पाएंगे। यहीं से पूर्व विधायक अनिल सिंह और युवा नेता जमील सिद्दिक़ी भी टिकट की लड़ाई में शामिल हैं। अब पार्टी किसे टिकट देगी, यह यक्ष प्रश्न बन गया है। डुमरियागंज विधानसभा से पिछला चुनाव सपा के जुझारू नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी कहे जाने वाले रामकुमार उर्फ चिंकू यादव चुनाव लड़े थे। इस बार भी वे ही टिकट के दावेदार थे। परंतु बसपा से पिछला चुनाव मामूली मत से हारने वाली सैय्यदा खातून के सपा में शामिल होने से प्रबल दावेदार बन कर उभरी है। जिससे सपा नेतृत्व के समक्ष धर्मसंकट उत्पन्न हो गया है। इस तरह से सपा दो सीटों पर प्रत्याशी घोषित करने में काफी कठिनाई महसूस करेगी।

खबरें और भी हैं...