​​​​​​​सिद्धार्थनगर में पूर्व विधायक बोले- मेरी हो सकती है हत्या:2017 में लखनऊ में हुआ था बेटे का कत्ल, अंतिम चरण में है कानूनी कार्रवाई

​​​​​​​सिद्धार्थनगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
​​​​​​​सिद्धार्थनगर में पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी बोले- मेरी हो सकती है हत्या - Dainik Bhaskar
​​​​​​​सिद्धार्थनगर में पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी बोले- मेरी हो सकती है हत्या

सिद्धार्थनगर में पूर्व विधायक ने अपनी हत्या हो जाने की आशंका जताई है। 2017 में उनके बेटे की हत्या हुई थी। हाल ही दो बदमाशों ने एक युवक से उसकी कार असलहे के दम पर छीन ली। लूट के दौरान उन लोगों ने पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी का नाम लिया। इसकी के बाद उन्होंने अपनी जान का खतरा बताया। कहा कि कानूनी कार्रवाई अंतिम चरण में है। आरोपी को बचाने के लिए उनकी हत्या करवाने की साजिश रची जा रही है।

किराए पर ली थी कार
जिले के डुमरियागंज कस्बे के निवासी शमीम अहमद के घर 8 सितंबर की रात 11 बजे दो अज्ञात लोग पहुंचे। उन लोगों ने बढ़नी जाने के लिए कार बुक कराई। इटवा रोड पर रगड़गंज चौराहे के पास पहुंचने पर उन लोगों ने गाड़ी रुकवाई और शमीम पर पिस्टल तान दी फिर उसे मारा-पीटा। जिसके बाद दोनों बदमाशों में से एक ने कार चलाई और वापस बस्ती की तरफ चल दिए। सिकहरा गांव के पास शमीम को गाड़ी से उतार दिया और कार लेकर फरार हो गए। मामले की सूचना पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई।

लुटेरे ले रहे थे पूर्व विधायक का नाम
शमीम ने पुलिस को बताया कि गाड़ी की छिनैती करने वाले बदमाश डुमरियागंज के पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी का नाम ले रहे थे। मामला प्रकाश में आते ही पूर्व विधायक हरकत में आ गए। पूर्व विधायक का दावा है कि वह लोग 16 दिसम्बर 2017 में उनके बेटे वैभव हत्याकांड से जुड़े हैं। वह लोग उनकी हत्या कर मामले को दबाने की कोशिश में जुटे हैं। हत्याकांड में न्यायिक प्रक्रिया आखिरी दौर में चल रही है। ऐसे में उनकी हत्या कर केस में मुख्य पैरवीकार को हटाने में लगे हैं।

दो साल पहले मिला सुरक्षाकर्मी
उन्होंने कहा कि 2 साल पहले उन्हें एक सुरक्षाकर्मी मुहैया कराया गया है। जो कि पर्याप्त नहीं है। क्योंकि लखनऊ में बहु व परिवार के अन्य सदस्य रहते हैं। पैतृक गांव आने पर परिवार की सुरक्षा के लिए गनर को छोड़ कर अकेले आना पड़ता है। ऐसे में कोई भी अनहोनी घटना हो सकती है। पूर्व विधायक का यह भी दावा है कि लगातार उनके घर की रेकी की जा रही है। जिससे खतरा बना हुआ है। वहीं पुलिस मामले को लेकर गंभीर हो गई है और पूर्व विधायक के पैतृक गांव रमवापुर में उनके घर के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगवाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...