सिद्धार्थनगर में महिला एवं बाल संरक्षण की कार्यशाला:डीएम बोले- लड़कियों और लड़कों को बराबर का है हक, जागरूकता के लिए लांच किए पोस्टर

सिद्धार्थनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिद्धार्थनगर में महिला एवं बाल संरक्षण की जिला स्तरीय कार्यशाला हुई। जिसमें डीएम संजीव रंजन ने कहा कि लड़कियों को लड़कों के बराबर सारे हक हैं। उन्हें यह हक देश का संविधान देता है और सिर्फ सरकार ही नहीं घर, परिवार और समुदाय का भी यह दायित्व है कि लड़कियों को बराबरी का हक मिले।

डीएम ने कार्यशाला में उपस्थित बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों, बाल कल्याण समिति के सदस्यों, वन स्टॉप सेंटर कर्मियों और चाइल्ड लाइन कार्मिकों से जेण्डर आधारित भेदभाव के बारे में विस्तार से बातचीत की। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि इस भेदभाव को खत्म करने की शुरुआत अपने स्तर से करने होगी। कार्यशाला में फेसिलिटेटर के रूप में प्लान इंडिया के तकनीकी प्रमुख सुधीर कुमार राय उपस्थित रहे। कार्यशाला का संचालन जिला प्रोबेशन अधिकारी विनोद कुमार राय ने किया।

सिद्धार्थनगर में महिला एवं बाल संरक्षण की कार्यशाला में मौजूद अधिकारी।
सिद्धार्थनगर में महिला एवं बाल संरक्षण की कार्यशाला में मौजूद अधिकारी।

मानव दुर्व्यवहार रोकने के प्रयासों को किया साझा
कार्यशाला के दौरान बाल विवाह की रोकथाम के लिए पंचायत स्तर पर जागरूकता तीन पोस्टर्स का डीएम ने लांच किया। कार्यशाला में उपस्थित एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के इंचार्ज और क्षेत्राधिकारी सदर अखिलेश वर्मा ने सीमावर्ती पंचायतों में मानव दुर्व्यवहार रोकने के लिए उनकी यूनिट द्वारा किये जा रहे प्रयासों को भी साझा किया। कार्यशाला में फेसिलिटेटर ने बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों के समक्ष बहुत सी परिस्थितियां रखी और इनमें बाल कल्याण पुलिस अधिकारी द्वारा लिए जाने वाले एक्शन के बारे में विस्तार से चर्चा की।

खबरें और भी हैं...