बिसवां में प्लाईवुड फैक्ट्री में लगी आग:3 जगहों से पहुंचीं फायर ब्रिगेड की गाड़ियां, 2 घंटे बाद बुझाई जा सकी आग

बिसवां9 दिन पहले

सीतापुर के बिसवां में प्लाईवुड फैक्ट्री के चैंबर में आग लग गई। मैनेजर, मजदूरों और ग्रामीणों के सूझबूझ व तीन जगहों से आईं फायर ब्रिगेड की गाड़ियों की मशक्कत के बाद तकरीबन 2 घंटे में आग पर काबू पा लिया गया। सदरपुर पुलिस ने भी सहयोग किया।

घटना के समय काफी संख्या में फैक्ट्री में थे मजदूर

सदरपुर थाना क्षेत्र के जहांगीराबाद कस्बे में स्थित सबसे पुरानी उस्मान प्लाईवुड इंडस्ट्रीज में शनिवार को दोपहर 2 बजे लकड़ी सुखाने के लिए बने चैंबर में अचानक धुआं निकलने लगा। इससे अफरातफरी मच गई। जिस समय आग लगी उस समय काफी संख्या में मजदूर फैक्ट्री में काम कर रहे थे। जैसे ही चैम्बर में आग लगी वैसे ही फैक्ट्री मैनेजर ने बिजली की सप्लाई बंदकर फैक्ट्री के सभी गेट खुलवा दिए। इसके बाद आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया।

बिसवां में फैक्ट्री में लगी आग 2 घंटे बाद बुझ सकी।
बिसवां में फैक्ट्री में लगी आग 2 घंटे बाद बुझ सकी।

सूचना पर मालिक भी मौके पर पहुंचे

खबर मिलते ही काफी संख्या में ग्रामीण, फैक्ट्री के मालिक व कर्मचारी भी मौके पर पहुंच गए। 100 डायल पुलिस भी मौके पर पहुंची। बिसवां फायर ब्रिगेड को घटना की जानकारी दी गई। फायर ब्रिगेड के कर्मियों ने फोन कर रेउसा से छोटी फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भेज दीं। थोड़ी देर बाद ही बिसवां से भी फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंच गईं। देबियापुर पुलिस चौकी के सभी जवानों ने भी आग बुझाने में सहयोग किया।

बिसवां में फैक्ट्री में लगी आग को बुझाने में सभी ने किया सहयोग।
बिसवां में फैक्ट्री में लगी आग को बुझाने में सभी ने किया सहयोग।

चैंबर में खराबी से आग लगने की संभावना

फैक्ट्री मैनेजर सुहेल ने बताया कि प्लाई बनाने से पहले कई प्रक्रियाओं से गुजरना होता है। लकड़ी के चैंबर के जरिए लकड़ी को सुखाने का काम किया जाता है, इसमें पंखे लगे होते हैं, अनुमान है कि पंखे या तार में खराबी के कारण आग लग गई। हालांकि ज्यादा कुछ स्पष्ट नहीं हो पाया है। उन्होंने बताया कि नुकसान का आकलन किया जा रहा है।