बिसवां पंचायत सहायक अकाउंटेंट में धोखाधड़ी का मामला:पंचायत सचिव व प्रशासनिक समिति पर धोखाधड़ी का आरोप, जिला अधिकारी ने एफआईआर दर्ज कराने का दिया आदेश

बिसवां5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतापुर के बिसवां पंचायत सहायक अकाउंटेंट में की गई धोखाधड़ी की लगातार ग्राम पंचायत निपनिया माफी के आवेदक अत्यदीप द्वारा शिकायत की जा रही थी, जिसे जिलाधिकारी द्वारा संज्ञान में लिया। जिसमें कहा गया है कि निपनिया माफी में पंचायत सहायक अकाउंटेंट कम डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर फर्जीवाड़ा करके अपात्र चयन किया गया जो कि निम्नवत है।

शासनादेश बिंदु 17 के चयन पर रोक थी और संदेश कुमार पुत्र राजाराम वर्तमान में नवनिर्वाचित ग्राम पंचायत सदस्य थे और उन्हें पंचायत सहायक भर्ती में आवेदन किया था, ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम प्रधान की मिलीभगत के चलते वर्तमान पंचायत सदस्य संदेश कुमार पंचायत सहायक के पद पर चयन किया जो शासनादेश बिंदु 17 के अनुसार गलत है।

इस प्रकरण की उच्च अधिकारियों को शिकायत की तो सहायक विकास अधिकारी द्वारा आख्या लगाई गई, जिसमें कहा गया कि संदेश कुमार ने 5 जुलाई 2021 को अपने पद से त्यागपत्र दे दिया था। जब जन सूचना एक्ट 2005 के अंतर्गत ग्राम पंचायत सचिव से वर्तमान समय में ग्राम पंचायत सदस्यों व वर्तमान समय में गठित समितियों की सूची मांगी गई ,तो ग्राम पंचायत सचिव द्वारा 18-10-2021 को दी गई सूची में 9 नंबर पर संदेश कुमार का नाम अंकित किया और उन्हें वर्तमान में ग्राम पंचायत सदस्य बताया।

21-10 -2021 को जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा स्वीकृत किया गया है कि संदेश कुमार को पंचायत सदस्य के दायित्वों से मुक्त किया। पंचायत सचिव व ग्राम प्रधान की मिलीभगत के चलते शासन आदेश का पालन नहीं किया गया है और संदेश कुमार का त्यागपत्र बैक डेट में बता कर चयन किया गया और इस पूरे प्रकरण को लेकर पीड़ित अत्यदीप द्वारा उच्च अधिकारियों से शिकायत कर न्याय की मांग की जा रही थी।

जिलाधिकारी महोदय द्वारा पुनः एक बार शिकायत पर संज्ञान लिया गया है और जिला पंचायत राज अधिकारी को यह आदेश दिया गया है कि पंचायत सचिव व प्रशासनिक समिति पर धोखाधड़ी की एफ आई आर दर्ज कराकर पात्र प्रार्थी अत्यदीप का चयन किया जाए।