चुनाव से पहले दल-बदल का खेल:महोली विधानसभा सीट के भाजपा पदाधिकारी ने दिया इस्तीफा, सरकार पर लगाए कई आरोप

महोली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीतापुर जिले की महोली विधानसभा सीट के भाजपा पदाधिकारी ने स्थानीय जनप्रतिनिधि और सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए अपनी प्राथमिक सदस्यता और पद से इस्तीफा दे दिया है। एलिया ब्लॉक के टिकरा खुर्द गांव निवासी अखिलेश कुमार एलिया मंडल के मंत्री पद पर मनोनीत थे। शुक्रवार को उन्होंने भाजपा के मंडल अध्यक्ष जय प्रकाश त्रिपाठी को अपनी प्राथमिक सदस्यता और मंडल मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया।

ब्राह्मणों को नहीं दी गई तवज्जो

अखिलेश ने अपने इस्तीफे में लिखा कि प्रदेश सरकार द्वारा अपने पूरे 5 साल के कार्यकाल के दौरान ब्राह्मण, दलित एवं पिछड़े समुदाय के नेताओं, जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं को कोई तवज्जो नहीं दी गई, न तो उन्हें उचित सम्मान दिया गया। इसके अलावा प्रदेश सरकार द्वारा दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों, छोटे, लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षा की गई है। प्रदेश सरकार के कूटनीतिक रवैये एवं जनविरोधी नीतियों के कारण मैं इस्तीफा दे रहा हूं।

आपराधिक तत्वों को मिल रहा संरक्षण

इससे पहले महोली मंडल के महामंत्री रीतेश वर्मा मंडल अध्यक्ष श्रीनाथ बाजपेयी को अपना इस्तीफा दे चुके हैं। उनका कहना था कि वह स्थानीय जनप्रतिनिधि की कार्यकर्ताओं के प्रति दमनकारी शैली, संगठन के जिलास्तरीय रवैये व आपराधिक तत्वों को प्राथमिकता व संरक्षण देने के चलते बहुत आहत थे। विवश होकर उन्होंने अपना इस्तीफा सौंपा था। महोली मंडल के महामंत्री पद से इस्तीफा देने वाला रीतेश वर्मा 28 लाख के धान घोटाले का आरोपी है। पीसीयू के जिला प्रबंधक की तहरीर पर रीतेश सहित सात लोगों के विरुद्ध महोली कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था।

खबरें और भी हैं...