महोली में शशांक त्रिवेदी की मन की बात:विधायक ने दैनिक भास्कर से कहा- हमसे अच्छा कोई प्रत्याशी मिल रहा होगा तो लाएगी पार्टी, करूंगा समर्थन

महोली, सीतापुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाजपा की 85 प्रत्याशियों की सूची से महोली विधानसभा का नाम गायब होना क्षेत्र में चर्चा का विषय है। पार्टी का कार्यकर्ता हो या समर्थक, विपक्षी दल सपा-बसपा का नेता हो या किसान। हर व्यक्ति की यह जानने का इच्छुक है कि महोली विधानसभा का नाम होल्ड पर क्यों है ! हर जुबान पर एक ही सवाल है कि क्या मौजूदा विधायक का टिकट कट सकता है ? यह जानने के लिए 'दैनिक भास्कर' ने महोली विधायक शशांक त्रिवेदी से बात की। 'दैनिक भास्कर' के सवालों का विधायक ने साफगोई से जवाब देते हुए कहा कि- "अभी तो सूची से नाम गायब है। पार्टी जो निर्णय लेगी उसका सम्मान है। पार्टी जिसे लड़ाएगी उसे पूरी ताकत से लड़ाया जाएगा। अभी तो नाम होल्ड पर है। पार्टी ने नाम की घोषणा कर दी होती। पार्टी कुछ सोच-विचार कर रही होगी। हमसे अच्छा कोई प्रत्याशी मिल रहा होगा तो लाएगी पार्टी। हम भी उसकी मदद करेंगे। हम में कोई कमी होगी। 5 साल में हमने ईमानदारी में कुछ गड़बड़ी की होगी तो हो सकता है पार्टी हटाए हमको। पार्टी के नेता वरिष्ठ हैं। उनकी दूरगामी सोच होगी। कुछ मेरे लिए, कुछ सीट के लिए। कोई चिंता की बात भी नहीं है। जनता हमारी ताकत है "

अपनी बात कहने के दौरान विधायक ने एक बार भी इसका दावा नहीं किया कि टिकट उन्हीं को मिलेगा। वो भाजपा से लड़ेगे और जीतेंगे। विधायक के जवाब से बहुत कुछ साफ हो चुका है। सोशल मीडिया पर उनके समर्थक खामोश हैं। विधायक के अधिकांश सिपाहियों का अभी से दलीय निष्ठा से हृदय परिवर्तन होता दिख रहा है।

तो नाराज हो जायेगा ब्राह्मण

महोली ब्राह्मण बाहुल्य सीट है। ब्राह्मण का टिकट काटकर भाजपा ब्राह्मणों को नाराज नहीं करना चाहेगी। कयास लगाए जा रहे हैं। ब्राह्मण का टिकट काटकर भाजपा किसी ब्राम्हण को ही प्रत्याशी बनाएगी। वैसे भी अब तक सपा से संभावित प्रत्याशी अनूप गुप्ता और बसपा के संभावित प्रत्याशी डॉ. राजेंद्र प्रसाद वर्मा पिछड़ी जाति से हैं। 'आप' ने सामान्य वर्ग की दीप्ति वर्मा को अपना प्रत्याशी बनाया है। ऐसे में भाजपा किसी ब्राह्मण चेहरे पर दांव खेल सकती है।