सीतापुर में डीएम ने की विकास कार्यों की समीक्षा बैठक:कमियां पाये जाने पर सीवीओ पर डीएम ने जतायी नाराजगी,डीएम बोले- योजनाओं पर हो जमीनी स्तर पर काम

सीतापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीतापुर में डीएम ने की विकास कार्यों की समीक्षा बैठक - Dainik Bhaskar
सीतापुर में डीएम ने की विकास कार्यों की समीक्षा बैठक

सीतापुर में डीएम की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में शुक्रवार की देर शाम विकास कार्यों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि शासन की प्राथमिकता वाली लाभार्थीपरक योजनाओं से अधिक से अधिक पात्रों को समय से लाभान्वित किया जाये। उन्होंने अफसरों को कड़े निर्देश दिये कि निर्माणाधीन योजनाओं को समय से पूर्ण कराया जाये। जिलाधिकारी ने निराश्रित गौवंश के संबंध में शासन की मंशा के अनुरूप अधिक से अधिक गौवंश संरक्षण करने तथा निराश्रित गौवंश आश्रय स्थलों पर आवश्यक व्यवस्थाएं समय से उपलब्ध कराये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने गौवंश से संबंधित विभिन्न लक्ष्यों के सापेक्ष प्राप्त उपलब्धियों की समीक्षा भी की और समीक्षा के दौरान कमियां पाये जाने पर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी पर डीएम ने कड़ी नाराजगी भी व्यक्त की।

आवारा पशुओं को गौशालों में करे पाबन्द

इडीएम ने बैठक के दौरान अधिशासी अधिकारी नगर पालिका सीतापुर को निर्देश दिये कि नगर में स्थित गौशालाओं में आश्रय प्राप्त कर रहे 300 पशुओं को ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित गौआश्रय स्थल में स्थानान्तरित कर रिक्त हुये स्थान को नगर में घूम रहे बेसहारा पशुओं से पूर्ण किया जाये। डीएम ने पशुओं का टीकाकरण कराये जाने के निर्देश मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को दिये और कहा कि डेरी संचालकों को सहभागिता योजना के अन्तर्गत दिये जाने वाले लाभों को अनियमित रूप से न दिया जाये। सहभागिता योजना के अन्तर्गत दिये जाने वाले लाभों का निरीक्षण करने के निर्देश परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 को दिये। जिन परिवारों में कुपोषित बच्चे हैं उन परिवारों को चिन्हित कर दुधारू पशु उन्हें दिये जायें तथा सहभागिता योजना के अन्तर्गत लाभान्वित किया जाये।

समय से अस्पताल पहुंचे डॉक्टर- डीएम

डीएम ने बैठक के दौरान सीएमओ से सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों एवं कर्मचारियों के समय से पहुंचने की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि सभी चिकित्साधिकारियों एवं कर्मचारियों की समय से उपस्थिति सुनिश्चित की जाये और इसका नियमित रूप से पर्यवेक्षण भी किया जाये। पात्रों के आयुष्मान कार्ड समय से जारी किये जाने के निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिये। उन्होंने कहा कि जो भी आयुष्मान कार्ड जारी किये गये हैं उनकी सूची तैयार कर लें एवं विशेष अभियान चलाकर शेष कार्ड बनाये जाने का कार्य पूर्ण किया जाये। डायलिसिस एवं टेलीमेडिसिन की सेवाओं को प्रारम्भ करने किये जाने हेतु अभी तक की गयी कार्यवाही की समीक्षा करते हुये जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश दिये कि इन सेवाओं को प्रारम्भ किये जाने हेतु तत्काल प्रभावी कार्यवाही की जाये। दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने एवं आवश्यकतानुसार समय से मांग पत्र प्रेषित कराने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिये।

खबरें और भी हैं...