• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Sitapur
  • Lover Murdered Along With Son In Sitapur: The Body Was Found On 22 December, Was Killed In The Greed Of Money And Thrown In The Safety Tank.

सीतापुर में बेटे के साथ मिलकर प्रेमी की हत्या:22 दिसंबर को मिला था शव, रुपयों के लालच में मारकर सेफ्टी टैंक में फेंक दिया था

सीतापुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक प्रमोद की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतक प्रमोद की फाइल फोटो।

सीतापुर में 22 दिसंबर को मिले युवक के शव को लेकर पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक, युवक की विधवा प्रेमिका ने रुपयाें के लालच में उसकी हत्या की थी। इंस्पेक्टर पिसावां भानु प्रताप सिंह ने बताया कि रेखा और प्रमोद का प्रेम-प्रसंग चल रहा था। 11 दिसंबर की रात प्रमोद रेखा से मिलने उसके घर पहुंचा।

रात में सोते समय रेखा ने बेटे गोलू के साथ मिलकर प्रमोद की गला दबाकर हत्या कर दी। पहचान छिपाने के लिए ईंट से सिर कूच दिया और कपड़े भी जला दिए। इसके बाद शव को नग्न अवस्था में घर के सेफ्टी टैंक में डाल दिया। रेखा की निशानदेही पर जलाए गए युवक के कपड़े, टूटी चूड़ियां, पायल का गुटका और आलाकत्ल ईंट को बरामद कर लिया है। पुलिस ने गोलू की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस ने हत्यारोपी रेखा को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस ने हत्यारोपी रेखा को गिरफ्तार कर लिया है।

11 दिसंबर को की थी हत्या

घटना पिसावां थाना क्षेत्र के हर्नीकीरतपुर गांव का हैं। यहां लखनऊ के अलमदपुर निवासी प्रमोद मिश्रा का सीतापुर के पिसावां निवासी रेखा से प्रेम-प्रसंग था। दोनों लिवइन में रहते थे। प्रमोद के छोटे भाई संतोष मिश्रा के मुताबिक, उसका भाई 11 दिसंबर की दोपहर घर से रेखा के घर जाने की बात कहकर निकला था, लेकिन उसके बाद उसका कोई सुराग नहीं मिला। पिसावां पुलिस ने अज्ञात शव की शिनाख्त कराई तो उसकी पहचान प्रमोद के रूप में हुई। पुलिस ने भाई की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया। शक के आधार पर रेखा को हिरासत में लिया। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

नगर निगम में हुई थी दोनों की मुलाकात

पुलिस के मुताबिक, रेखा के पति रविन्द्र की मौत सात वर्ष पूर्व बीमारी की वजह से हो गयी थी। दो वर्ष जब वह लखनऊ के नगर निगम में मजदूरी के लिए गयी थी, यहां पर उसकी मुलाकात प्रमोद से हुई। जिसके बाद दोनों पति पत्नी की तरह ही रहने लगे और एक दूसरे के घर भी जाया करते थे। मृतक के परिजनों के मुताबिक,मृतक प्रमोद पेशे से ट्रक ड्राइवर था और तीन भाइयों में दूसरे नंबर का था। बड़ा भाई पवन तथा तीसरे सन्तोष के घर मे बुजुर्ग मां तथा रेलवे से सेवानिवृत्त पिता प्रेम कुमार हैं। युवक की मौत के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है।