सीतापुर में 2 से 30 अप्रैल तक दस्तक अभियान:स्वास्थ्य विभाग ने घर-घर मरीज ढूंढने के लिए टास्क फोर्स बनाई, स्क्रीनिंग के बाद घरों के बाहर लगाए जांएगे कार्ड

सीतापुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीतापुर में 02 अप्रैल से 30 अप्रैल 2022 तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह का आयोजन किया जाएगा। - Dainik Bhaskar
सीतापुर में 02 अप्रैल से 30 अप्रैल 2022 तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह का आयोजन किया जाएगा।

सीतापुर में 02 अप्रैल से 30 अप्रैल 2022 तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह का आयोजन किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मधु गैरोला की अध्यक्षता में टास्क फोर्स की द्वितीय बैठक का आयोजन किया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने माइक्रोप्लान के अनुसार अभियान के सफल आयोजन एवं सभी विभागों से इस अभियान में सहयोग की अपील है। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगों को मच्छर जनित परिस्थितियां उत्पन्न न होने देने के लिए जागरूक करें और हमें संचारी रोग जैसे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, दिमागई बुखार जैसी बीमारियों के प्रसार को रोकना है इसके लिए आवश्यक है कि सही समय पर मरीज के बुखार की जांच और उसका इलाज हो सके।

दस्तक अभियान में होगी मरीजों की पहचान

सीएमओ ने कहा कि इस अभियान के दौरान यह आवश्यक है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर पहुचे और स्क्रीनिंग भी करें। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग है और सभी विभागों के परस्पर सक्रिय सहयोग से ही अभियान की सफलता निश्चित है। संचारी रोग के नोडल अधिकारी डाॅ. सुरेंद्र सिंह ने बताया कि 15 से 30 अप्रैल तक दस्तक अभियान चलाया जाएगा।

पहले के दस्तक अभियान की भांति इस वर्ष भी दस्तक अभियान में आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर बुखार के रोगियों, इंफ्लुएंजा लाइक इलनेस के रोगियों, क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्तियों एवं कुपोषित बच्चों की सूची बनाएंगी। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही टीम क्षेत्रवार ऐसे मकानों की सूची भी बनाएंगी जहां घरों के भीतर मच्छरों का प्रजनन पाया गया है। इसके साथ ही आशा कार्यकर्ता उन घरों के प्रमुख स्थानों पर स्टीकर लगायेंगी जिन घरों में 15 वर्ष से कम आयु के बच्चे हैं या क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्ति पाये गए हैं।

मरीजों के घर के बाहर लगेगा कार्ड

इस अभियान के तहत संचारी रोगों से बचाव हेतु स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा स्कूलों, वीएचएनडी, मातृ समिति की बैठक में लोगोंको जागरूक किया जाएगा। आशा कार्यकर्ता लोगों को इस बात के लिए जागरूक करें एवं यह जरूर सुनिश्चित करें कि बुखार होने पर स्वयं कोई इलाज न करें नजदीकि स्वास्थ्य केंद्र पर बुखार की जांच कराएं। इस बैठक में सभी अध्यापकों , वार्ड मेम्बरों ,आशा ,आँगनवाड़ी , हैल्थ वर्कर्स आदि के संवेदीकरण पर फोकस किया किया।

खबरें और भी हैं...