मंत्री ने की जन चौपाल:सोनभद्र में सुनी समस्या, सम्बंधित अधिकारियों को लगाई फटकार

सोनभद्र9 दिन पहले

सोनभद्र में विकास कार्यों की समीक्षा करने तथा जनचौपाल लगाकर जनता की समस्याओं को सुनने के लिए जिले में पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी, दया शंकर मिश्रा आयुष एवंग खाद्य सुरक्षा मंत्री के साथ सुरेश राही कारगर मंत्री ने जिले का एक दिवसीय दौरा का कार्यक्रम में हिस्सा लिया। वहीं हिंदुआरी पंचायत भवन में आयोजित जनचौपाल में लोगों की समस्या सुनने के साथ ही अधिकारियों की लापरवाही को देखते हुए फटकार भी लगाई।

पंचायती राज मंत्री ने मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए बताया की लोगों को सरकार की तरफ से चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी का अभाव है। जिसको देखते हुए जगह-जगह कैंप लगाकर लोगों को योजनाओं से संबंधित जानकारी दी जाए और को लाभ पहुंचाया जाए। इसके साथ ही जिले के कुल 269 गांव में फ्लोराइड की समस्या को देखते हुए वहां के गांव और विद्यालयों में बच्चों सहित सभी नागरिकों को फ्लोराइड युक्त पानी पीना पड़ रहा है। ऐसे गांव में शुद्ध पेयजल की सप्लाई नहीं होने के सवाल पर उन्होंने बताया कि दिसंबर 2022 तक लोगों को टोटी के माध्यम से शुद्ध पेयजल दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि लोगों को तत्काल राहत दिलाए जाने के मामले पर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा।

बता दें कि आज भाजपा कार्यालय पर पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी, दयाशंकर मिश्रा दयालु आयुष खाद्य सुरक्षा व सुरेश राही कारागार मंत्री का जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद भाजपा कार्यालय पर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की और हिंदुआरी गांव में जन चौपाल लगाकर लोगों की समस्याओं को सुना तथा जल्द से जल्द समाधान किए जाने के लिए निर्देशित किया।

जबकि इस दौरान बिजली विभाग के एक्सईएन को लापरवाही बरतने पर फटकार भी लगाई। वहीं कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए पंचायती राज मंत्री ने यह माना कि लोगों को सरकार के द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं की जानकारी नहीं है। जिसके वजह से उनको पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए जगह-जगह कैंप लगाकर जागरूक किया जाए और योजनाओं का लाभ दिलाया जाए।

पंचायती राज मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार भूपेंद्र सिंह चौधरी से पत्रकारों ने पूछा कि जिले में कुल 269 गांव में फ्लोराइड की समस्या है। वहां के विद्यालयों में लगे हैंडपंप में भी फ्लोराइड युक्त पानी आ रहा है। इन गांव के विद्यालय में बच्चे फ्लोराइड युक्त पानी पीने के लिए मजबूर हैं ऐसे गांव में लोगों को शुद्ध पेयजल के लिए टैंकर से सप्लाई नहीं की जा रही इस सवाल पर पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार के द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है।

लोगों को टोटी के माध्यम से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाए और दिसंबर 2022 तक लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराए जाने का स्थाई प्रबंध किया जा रहा है हालांकि वर्तमान समय में लोगों को फ्लोराइड युक्त पानी पीना पड़ रहा है इस संबंध में उन्होंने कुछ भी कहने से बचते नजर आए।

पंचायती राज मंत्री से पत्रकारों द्वारा पंचायती राज विभाग में भ्रष्टाचार के मामले में पुछे गए सवाल की कमिश्नर द्वारा शासन को पत्र लिखे जाने और मामले की जांच होने के बाद भी कार्रवाई ना होने पर उन्होंने बताया कि मामले का संज्ञान उन्हें नहीं है और यदि इस मामले की जांच हुई है और कार्रवाई नहीं हुआ है तो ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी रिकवरी कराई जाएगी और एफ आई आर भी दर्ज कराए जाएंगे।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि सरकार की जो प्राथमिकता की योजनाएं हैं उन योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंच रहा है या नहीं इस बात को देखने के लिए जनपद में आए हुए हैं और गांव का भी निरीक्षण कर इससे की जानकारी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...