सोनभद्र में सभी घरों पर टांगी जा रही बोरिया:मेरा प्लास्टिक मेरी जिम्मेदारी के तहत कार्यक्रम का आयोजन, कहा-सिंगल यूज प्लास्टिक से होता है नुकसान

सोनभद्र2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह के आह्वान पर सिंगल यूज प्लास्टिक के संकलन एवं निस्तारण के लिए अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत 10 विकास खंड के 629 ग्राम पंचायतों ने इस अभियान में लोगों को जागरूक करने एवं घरों पर बोरी टांगने में अपनी सहभागिता निभाई।

ग्राम पंचायत घुवास खुर्द में घोरावल विधायक डॉ. अनिल कुमार मौर्य और सदर प्रमुख अजीत रावत ने घरों पर बोरिया टांग कर प्लास्टिक के निस्तारण के लिए चलाए जा रहे अभियान की शुरुआत की। ग्राम वासियों को संबोधित करते कहा की ग्राम पंचायतों में सिंगल यूज प्लास्टिक से गोवंश, मानव स्वास्थ्य तथा प्रकृति को नुकसान हो रहा है, लोग प्लास्टिक का प्रयोग करने के बाद प्लास्टिक को खुले वातावरण में फेंक देते हैं। जिससे प्लास्टिक में उपस्थित खाद्य सामग्री के साथ ही प्लास्टिक को गोवंश द्वारा खा लिया जाता है। जिससे वह बीमार पड़ते हैं और असामयिक रूप से मृत्यु भी हो रही है। प्लास्टिक नालियों में एवं तालाब में भरे पड़े रहते हैं ।

घरों के सामने टांगी गई बोरियां।
घरों के सामने टांगी गई बोरियां।

एक अभिनव पहल की शुरुआत
आज ग्रामीण क्षेत्रों में सभी जगहों पर कूड़े के रूप में सबसे बड़ी समस्या प्लास्टिक की हो गई है। इसके निस्तारण के लिए जिलाधिकारी सोनभद्र ने एक अभिनव पहल की शुरुआत की। जिसमें सभी घरों पर बोरी टांग कर घर के लोगों को जागरूक किया जा रहा है। लोग अपना प्लास्टिक उसी में डालेंगे और हर माह के 20 से 25 तारीख तक अभियान चलाकर इसका निस्तारण कर लिया जाएगा।

प्लास्टिक के निस्तारण के लिए अपील
जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह एवं खंड विकास अधिकारी उमेश सिंह ने पंचायत पकरी, नई एवं बरवन में अभियान की शुरुआत की गयी। अधिकारियों ने खुद घरों पर बोरिया टांग कर अभियान की शुरुआत की। जनपद के सभी ग्राम प्रधान का आह्वान किया गया कि सभी प्रधान अपने ग्राम पंचायतों में नेतृत्व करते हुए ग्राम स्त्री सभी कर्मचारियों एवं गांव के लोगों के साथ हर घर में बोरी टांग कर प्लास्टिक के निस्तारण हेतु सब से अपील करें। हर माह के 20 से 25 तारीख तक अभियान चलाकर सभी बोरियों से प्लास्टिक का संकलन भी कराएं।

खबरें और भी हैं...