ओबरा तहसील की मांग को लेकर 25वें दिन धरना जारी:अधिवक्ताओं ने आंदोलन को अनवरत जारी रखने और उग्र करने पर सहमति व्यक्त की

सोनभद्र2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ओबरा तहसील ओबरा में बनाने की मांग को लेकर 25वें दिन लगातार क्रमिक धरना एवं प्रदर्शन जारी है। आज एडवोकेट संजय कुमार, करणी सेना सदस्य ओंकार सिंह ने धरना स्थल की अगुवाई की। धरने पर अधिवक्ता गण एवं सहयोगी सदस्य का माल्यार्पण एडवोकेट हरिओम सेठ और एडवोकेट एसके जैन ने किया।

सोनांचल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश चंद्र मिश्रा की अध्यक्षता में अधिवक्ताओं ने आंदोलन को अनवरत जारी रखने और उग्र करने पर सहमति व्यक्त की। इसके साथ ही ओबरा तहसील के स्थाई भवन के निर्माण ओबरा परिक्षेत्र में किए जाने के लिए एक प्रतिनिधि मंडल उप जिलाधिकारी से मिलकर बात किया। मौके पर ओबरा तापीय परियोजना के सिविल विभाग के इंजीनियर अंकुर भी मौजूद रहे।

ओबरा में तहसील बनाने के लिए धरना।
ओबरा में तहसील बनाने के लिए धरना।

भूमि पर अवैध तरीके से कब्जा
ओबरा तापीय परियोजना राजस्व एवं ग्राम समाज की भूमि पर अवैध तरीके से कब्जारत है। उसको खाली कराने और राजस्व की भूमि पर ओबरा तहसील का निर्माण कराए जाने के बाबत सहमति बनी है। ओबरा तापीय परियोजना जल्दी ही ओबरा तहसील का स्थायी निर्माण ओबरा में करने का सहयोग सिविल विभाग ने किया। उक्त का संचालन वरिष्ठ एडवोकेट हरिओम सेठ ने किया।

ये लोग रहे मौजूद
इस दौरान एडवोकेट एसके चौबे, एडवोकेट रमाशंकर यादव, सामाजिक कार्यकर्ता विजय शंकर यादव तथा जयशंकर भारद्वाज ‌, एडवोकेट पंकज कुमार राव, वरिष्ठ अधिवक्ता शम्भु नाथ शर्मा, जय नाथ गिरी, धर्मेंद्र त्रिपाठी, राघवेंद्र त्रिपाठी, रामपाल शास्त्री, मिथिलेश तिवारी, कौशल पांडे, गजेंद्र यादव, अजय यादव, चन्द्रभान भगत, राजेश गौतम, अनिल कुमार, उमेश शुक्ला,मनीष मिश्रा, आनंद श्रीवास्तव, अनिल चौधरी, रोहित नंदन दुबे, सामाजिक कार्यकर्ता राहुल प्रताप सिंह अध्यक्ष करणी सेना, एडवोकेट कमलेश यादव, हरेंद्र सिंह, सुशील पांडेय, नसीम खान, दिनेश दुबे, सुरेश सिंह, मनोज पाठक, नीरज सिंह, विनय कुमार, लालचंद, राजू पाठक समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...