सोनभद्र में दर्ज हुआ मौत का झूठा मामला:बेटा जिंदा था, बहू से छुटकारा पाने के लिए करवा दिया गायब, फिर कर दिया केस

सोनभद्र5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपी बेटे को किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपी बेटे को किया गिरफ्तार।

सोनभद्र मे एक महिला ने अपने जिस बेटे की हत्या करने और उसका शव ठिकाने लगाने का आरोप अपनी पुत्रवधू और बेटे के ससुरालियों पर लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था, पुलिस ने उसे जिंदा बरामद कर लिया है। पुलिस ने अब झूठा मुकदमा दर्ज कराने के मामले में महिला के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

ससुरालवालों पर लगाया हत्या का आरोप

म्योरपुर थाना क्षेत्र के घघरी टोला, सहगोड़ा गांव निवासी आकाश अचानक अपने ससुराल चैरी गांव से 5-6 महीने पहले लापता हो गया था। जिसके बाद परिवार ने उसकी तलाश की, लेकिन उसका कोई अता-पता नहीं चला। परिवार के लोग उसके ससुरालियों पर ही आकाश की हत्या करने का आरोप लगा रहे थे।

पुलिस ने शुरू कर दी थी जांच

आकाश की मां लक्ष्मीनिया देवी ने 6 दिसम्बर 2021 को कोर्ट के माध्यम से आकाश की पत्नी और ससुर समेत कुल पांच लोगों पर आकाश की हत्या करने और शव को ठिकाने लगाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर मामले की तफ्तीश शुरू की।

चेन्नई में कर रहा था काम

पुलिस ने छानबीन शुरू की। आकाश के ससुरालियों के मोबाइल फोन नंबर सर्विलांस पर लेकर भी पड़ताल हुई। इसी बीच पता चला कि आकाश तो जिंदा है और चेन्नई में रह रहा है। वो चेन्नई में एक प्राईवेट कम्पनी में मजदूर सप्लाई का कार्य कर रहा है। मजदूर लेने के लिए वो कटनी रेलवे स्टेशन आने वाला है। जिसकी जानकारी होने पर थाना म्योरपुर पर गठित टीम द्वारा कटनी पहुंचकर कथित मृतक आकाश को जीवित पकड़ लिया।

मां ने रची थी साजिश

पूछताछ में आकाश ने बताया गया कि मैंने और मेरी मां ने साजिश के तहत मुझको गायब करवा कर मेरे ससुराल वालों पर केस दर्ज करवाया। हम लोग अपने ससुराल वालों को फंसाना चाहते थे और अपनी पत्नी से छुटकारा पाना चाहते थे।

खबरें और भी हैं...