पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सोनभद्र में पावर हाउस में घुसकर मारपीट व तोड़फोड़:बिजली कटौती से नाराज थे ग्रामीण, धमकी देते हुए कहा- अपूर्ति दो नहीं तो अंजाम बुरा होगा

सोनभद्र12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सोनभद्र में ग्रामीणों ने पावर हाउस में घुसकर की तोड़फोड़। - Dainik Bhaskar
सोनभद्र में ग्रामीणों ने पावर हाउस में घुसकर की तोड़फोड़।

सोनभद्र में लगातार बिजली कटौती के चलते गांव वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हर बार पावर हाउस के कर्मचारी कोई न कोई बहाना बनाकर मामले से पल्ला झाड़ लेते हैं। इस बात से नाराज होकर गांव वालों ने पावर हाउस में घुसकर अधिकारियों के साथ मारपीट की। साथ ही जमकर तोड़फोड़ भी की। ग्रामीणों का गुस्सा देखकर बिजली विभाग के कर्मचारी उपकेंद्र छोड़कर भाग गए। पुलिस ने शुरू की मामले की जांच।

नया खुला है बिजली उपकेंद्र
विंढमगंज क्षेत्र की बिजली आपूर्ति बेहतर करने के लिए केवाल गांव में कुछ माह पहले ही नए बिजली उपकेंद्र का संचालन शुरू किया गया था। यहां से विढमगंज सहित 32 गांव पंचायतों को बिजली आपूर्ति की जाती है। पिछले 15 दिनों से लगातार बिजली कटौती से लोगों परेशान हो गए थे। बिजली आ भी रही है तो उसमें लो वोल्टेज एक बड़ी समस्या है। ग्रामीण कई दिनों से ऐतराज जता रहे थे।

उपकेंद्रकर्मी झाड़ते है पल्ला
नाराज ग्रामीण रविवार की रात उपकेंद्र पर पहुंच गए। वहां मौजूद अधिकारियों के साथ उन लोगों ने हाथापाई की। बाद में उन लोगों ने वहां तोड़फोड़ की। उन्होनें बताया कि इस बारे में जब भी उपकेंद्र कर्मियों से बात की जाती है। वह कभी 33 केवीए लाइन फेल बताते हैं। कभी इंसुलेटर पंक्चर होने की बात कही जाती है। ग्रामीणों का उग्र रूप देखकर वहां तैनात कर्मी भाग खड़े हुए। इसके बाद ग्रामीणों ने उप केंद्र में घुसकर जमकर तोड़फोड़ की और वहां से निकल गए।

क्या बोले एसएसओ
एसएसओ धीरेंद्र कुमार और संविदा कर्मी संजय कुमार गुप्ता ने बताया कि वर्तमान में केवाल विद्युत सब स्टेशन पर विद्युत भार ओवरलोड हो जाने से अक्सर बिजली कट जा रही है। इसी बात से नाराज ग्रामीणों का एक समूह रविवार की रात केवाल विद्युत उपकेंद्र आ गया। उनका कहना था कि बिजली की आपूर्ति दो नहीं तो अंजाम बुरा होगा। उपकेंद्र के अंदर घुसकर उनलोगों ने हाथापाई शुरू कर दी।

खबरें और भी हैं...