अनदेखी:बिना भवन के चल रहे ओबरा में 163 आंगनबाड़ी केंद्र

ओबरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मासूमों को अक्षर ज्ञान देने के साथ उनको कुपोषण से बचाने के लिए आंगनबाड़ी केंद्र खोले गए हैं। लेकिन ओबरा प्रखंड में 163 आंगनबाड़ी केन्द्रों का अपना भवन ही नहीं है। इस स्थिति में उन केंद्रों का या तो किराए के मकान में संचालित किया जा रहा या फिर किसी दूसरे विभाग के सरकारी भवन में। अपना भवन नहीं रहने के कारण केन्द्र संचालन में भी दिक्कतें आती है। लेकिन किसी तरह से केन्द्र का संचालन किया जा रहा है। बात दें कि प्रखंड में 262 आंगनबाड़ी केंद्र हैं, जिनमें 7680 बच्चे पंजीकृत हैं। 99 केन्द्र का अपना भवन हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों की सेहत सुधारने से लेकर उन्हें प्ले ग्रुप मॉड्यूल स्कूल पूर्व शिक्षा का दावा समेत अन्य कई दावे भले ही सरकार कर रही हो। लेकिन इन दावों को हकीकत में बदलने के लिए जो भवन चाहिए वह भी खुद का नहीं है।हालांकि विभाग की ओर से किराए का भवन लेकर केंद्र संचालित किए जाने की व्यवस्था है, लेकिन एक बड़ा कमरा, बड़ा किचन, टॉयलेट बाथरूम की सुविधा वाले भवन नही मिल पाते हैं। अपना भवन नहीं होने के कारण साफ सफाई शुद्ध पेयजल के साथ-साथ बच्चों को अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हो पाती है।

खबरें और भी हैं...