कुत्तों का आतंक:सुल्तानपुर के बल्दीराय में कुत्तों के झुंड ने मासूम को बुरी तरह से नोचा, जानलेवा हमले के बाद गंभीर हालत में भर्ती

बल्दीराय, सुल्तानपुर4 महीने पहले
कुत्तों के हमले के बाद मासूम का उपचार करते डाक्टर।

थाना बल्दीराय क्षेत्र के गांव नन्दौली में आवारा कुत्तों के झुंड ने मासूम बालक पर जानलेवा हमला कर दिया। मासूम की चीख-पुकार होने पर गांव के बीडीसी मोनू,असहाब व पंकज आदि लोग बचाने के लिए दौड़ पड़े। उन्होंने किसी तरह कुत्तों के झुंड से मासूम को बचाया और आनन-फानन में अस्पताल ले गए। जहां पर उसका इलाज चल रहा है। बच्चे की हालत फिलहाल गंभीर बनी हुई है। परिजन सदमे हैं।शाम 3 बजे गांव नंदौली निवासी मोहम्मद असलम के आठ वर्षीय बेटे शाबान को आधा दर्जन से अधिक आवारा कुत्तों के झुंड ने घेर लिया और जानलेवा हमला किया। हमला उस समय हुआ जब मासूम अपने घर से खेत जा रहा था। जैसे ही खेत के नजदीक पहुंचा तो अचानक कुत्तों ने घेर लिया और हमला कर दिया। मासूम बालक की चीख निकलने पर बीडीसी मोनू, असहाब व पंकज आदि लोग मासूम बालक को बचाने के लिए दौड़ पड़े। कुत्तों से किसी तरह बचाया और निजी वाहन की सहायता से इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बल्दीराय लेकर पहुंचे। पीड़ित पिता ने बताया कि कुत्तों ने उनके बेटे के पूरे शरीर को नोचकर जख्मी कर दिया है। गर्दन,मुँह व पैर को भी काटा गया है। पीड़ित पिता ने कहा कि यदि समय रहते पड़ोस के लोग बचाने नहीं आते तो शायद कोई अनहोनी हो सकती थी। वहीं दूसरी ओर अभी मासूम बालक की हालत गंभीर बनी हुई है। जिसका उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है।

खबरें और भी हैं...