जयसिंहपुर में गरजा बुलडोजर:तालाब और खलिहान की जमीन से एसडीएम ने हटवाया अतिक्रमण, अवैध कब्जेदारों में हड़कंप

जयसिंहपुर, सुलतानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तालाब पर खलिहानों पर किया था अवैध कब्जा - Dainik Bhaskar
तालाब पर खलिहानों पर किया था अवैध कब्जा

जयसिंहपुर में डीएम के निर्देश पर मोतिगरपुर विकास क्षेत्र के बिरतिहा रामपुर गांव में राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम ने एसडीएम के नेतृत्व में तालाब और खलिहान की भूमि पर छ्प्पर व टीनशेड रखकर किए गए अवैध अतिक्रमण को हटवा दिया। प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई के बाद से अवैध कब्जेदारों में हड़कंप मचा हुआ है।

डीएम से की थी शिकायत
मोतिगरपुर थाना क्षेत्र के बिरतिहा रामपुर निवासी एक व्यक्ति द्वारा तालाब और खलिहान पर अवैध कब्जेदारी की शिकायत डीएम से की गई थी। साथ ही तालाब हुए अतिक्रमण को लेकर उच्च न्यायालय में रिट दाखिल की गई थी। मामले का संज्ञान लेते हुए प्रशासनिक अधिकारियों ने अवैध रूप से सरकारी जमीन कब्जा करने वालों के खिलाफ नोटिस भी जारी की। बावजूद इसके कब्जा नहीं हटाया गया।

तालाब और खलिहान पर किया था अवैध कब्जा
बुधवार को एसडीएम जयसिंहपुर अरविंद कुमार राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम लेकर खुद गांव पहुंच गए। जेसीबी मशीन लगाकर तालाब और खलिहान पर रखे गए छ्प्पर व टीनशेड को टीम ने गिरा दिया। एसडीएम जयसिंहपुर अरविंद कुमार ने बताया कि गाटा संख्या 366 जो कि तालाब के रूप में दर्ज है। उस पर जैसराज, इदरीश, दल सिंगार एवं अन्य का कब्जा था।

हटवाया टीन शेड
हटवाया टीन शेड

वहीं गाटा संख्या 363 जो कि खलिहान के नाम से आरक्षित भूमि थी। उस पर दल सिंगार और खदेरू ने पक्का निर्माण कर लिया था। सभी स्थानों पर जेसीबी मशीन लगाकर अतिक्रमण को हटवा दिया गया है। राजस्व टीम ने तालाब की भूमि से जैसराज का टीनशेड, इदरीश की दीवार व टीनशेड, दलसिंगार की गुमटी, पृथ्वीराज का छ्प्पर व शौचालय को हटवाया है।

कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले पर हुई कार्रवाई
वहीं खलिहान की भूमि से दलसिंगार का टीनशेड, खदेरू के पशुशाला की पक्की दीवार व टीनशेड को हटाया गया है। इस दौरान सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने पर एक व्यक्ति के ऊपर निरोधात्मक कार्रवाई की गई है। अवैध कब्जा हटाए जाने के दौरान पूरे गांव में अफरा-तफरी का माहौल रहा।

अवैध अतिक्रमण पर चला बुलडोजर
अवैध अतिक्रमण पर चला बुलडोजर

राजस्व निरीक्षक अनिल यादव ने बताया कि अवैध कब्जेदारों को पूर्व में नोटिस दी गई थी। जिसके बाद भी उन्होंने सरकारी भूमि को खाली नही किया। इस मौके पर एसओ मोतिगरपुर राज कुमार वर्मा के अलावा पुलिस फोर्स व लेखपाल मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...