जयसिंहपुर में विवाहिता की मौत मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार:पति समेत जेठ व देवर पर परिजनों ने दहेज हत्या का दर्ज कराया था मुकदमा, पांच दिन पहले लटका मिला था शव

जयसिंहपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयसिंहपुर कोतवाली क्षेत्र के चोरमा गांव में पांच दिन पूर्व विवाहिता की मौत मामले में पुलिस ने पति समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मायके पक्ष के लोगों ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए पति, ससुर व देवर समेत चार लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया था। गुरुवार को पुलिस ने मामले में कार्रवाई की।

बता दें कि क्षेत्र के चोरमा गांव में 15 मई को मनीषा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मृतका के गले पर चोट के निशान पाए गए थे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। वहीं, मायके वालों ने पति सुनील निषाद, ससुर ओमकार नाथ, देवर जितेंद्र समेत ससुराल पक्ष के चार लोगों पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

एक साल पहले ही हुई थी मनीषा की शादी।
एक साल पहले ही हुई थी मनीषा की शादी।

शादी के बाद से ही करते थे प्रताड़ित
गुरुवार की सुबह करीब साढ़े दस बजे उप निरीक्षक जगदीश यादव ने पुलिस टीम के साथ हत्यारोपित पति, ससुर व देवर को पीढ़ी चौराहे से गिरफ्तार कर लिया। उप निरीक्षक ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेजने की कार्रवाई की गई है। बता दें कि साल भर पहले 21 मई 2021 को मनीषा उर्फ प्रियंका की सुनील के साथ शादी हुई थी। परिजनों का आरोप था कि ससुराल वाले आए दिन मनीषा को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। उसके साथ मारपीट करते थे।

यह भी पढ़ें- सुल्तानपुर में फंदे से लटकता मिला विवाहिता का शव:एक साल पहले हुई थी शादी, मायके वालों ने दहेज के लिए हत्या का लगाया आरोप

पांच दिन पहले की घटना
गांव निवासी मनीषा (27) पत्नी सुनील का शव सोमवार रात करीब 8 बजे कमरे के अंदर साड़ी के सहारे लटकता पाया गया था। बताया जा रहा था कि परिवार के सदस्य घर के बाहर काम से गए थे। वापस घर लौटे तो मनीषा का शव फंदे से लटकता देख वह सन्न रह गए। चीखने-चिल्लाने पर आस-पड़ोस के लोग भी जमा हो गए। फंदे से उतारकर परिवार के लोग महिला को प्राइवेट चिकित्सक के यहां ले गए, जहां चिकित्सक ने महिला को मृत घोषित कर दिया।

खबरें और भी हैं...