सुल्तानपुर में ब्लॉक प्रमुख मोनू सिंह की बढ़ी मुश्किलें:धनपतगंज ब्लॉक प्रमुख समेत दो पर मुकदमा दर्ज, जबरन अपने पक्ष में गवाही दिलाने का आरोप

सुल्तानपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में ब्लॉक प्रमुख मोनू सिंह की बढ़ी मुश्किलें। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में ब्लॉक प्रमुख मोनू सिंह की बढ़ी मुश्किलें।

सुल्तानपुर जिले में बाहुबली ब्लॉक प्रमुख धनपतगंज यशभद्र सिंह उर्फ मोनू की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। धनपतगंज थाने में मोनू और उनके साथी समेत दो लोगों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। दोनों पर एक व्यक्ति को जबरन कब्जे में लेकर अपने भाई के मुकदमे में गलत गवाही देने के लिए उठाने का आरोप है।

जबरन गवाही देने का आरोप

पुलिस ने बताया कि मामले में अपराध संख्या 242 भारतीय दंड विधान धारा 341 और 42 के मुकदमा दर्ज किया गया है। धनपतगंज थाना क्षेत्र के गांव मायंग निवासी श्रीराम पुत्र जगदीश ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि उसे 11 अक्टूबर सोमवार को यशभद्र सिंह ‘मोनू’ ने पूर्व में लिखे मुकदमे में गवाही देने के लिए बुलाया और कहा कि कल चलकर हमारे पक्ष में गवाही देनी है।

पुलिस ने ब्लॉक प्रमुख पर दर्ज किया मुकदमा

घर आकर पूरी बात भतीजे अनिल को बताई तो अनिल और घर वालों ने गवाही देने से मना कर दिया। वह मंगलवार 12 अक्टूबर को एक्सप्रेस-वे के सिक्स लेन के रास्ते घर जा रहा था। दोपहर 12 बजे के करीब सिक्स लेन पर ही उसे यशभद्र सिंह ‘मोनू’ और अंशु सिंह ने जबरदस्ती रोक लिया और गवाही देने के लिए सुलतानपुर कोर्ट परिसर ले आए, जहां वकील के मना करने पर उसे छोड़ा गया। थानाध्यक्ष मनोज शर्मा ने बताया कि तहरीर के आधार पर यशभद्र सिंह ‘मोनू’ और अंशु सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

मोनू के बड़े भाई जेल में बंद हैं

थानाध्यक्ष मनोज शर्मा ने बताया कि धनपतगंज थाना क्षेत्र स्थित मायंग गांव निवासी पूर्व विधायक चन्द्र भद्र सिंह ‘सोनू’ गांव के ही एक व्यक्ति का मकान जेसीबी से जबरन गिराने समेत अन्य आपराधिक मामले में जेल में बंद हैं। न्यायालय में वाद विचाराधीन है। ब्लॉक प्रमुख यशभद्र सिंह ‘मोनू’ उनके भाई हैं।

खबरें और भी हैं...