सुल्तानपुर जिला अस्पताल में ढाई घंटे नहीं आई बिजली:पैनल जल जाने से हुआ पावर कट, मरीज, तीमारदार से लेकर डॉक्टर तक हुए परेशान

सुल्तानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुल्तानपुर में बिजली का वैसे ही बुरा हाल है। गर्मी की बढ़ते ही ग्रामीण क्या शहरी क्षेत्र की बिजली आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई है। इस बीच यहां जिला अस्पताल में बीती रात पैनल फूंक जाने से इमरजेंसी से लेकर वॉर्ड तक मरीज अंधेरे में रहे। डॉक्टरों ने अंधेरे में ही इलाज किया।

रात दो बजे गायब हुई लाईट

मिली जानकारी के अनुसार रात करीब दो बजे के आसपास जिला अस्पताल में पैनल फूंक जाने के कारण अस्पताल की लाइट गुल हो गई। अस्पताल में अंधेरा होते ही वहां अफरा तफरी मच गई। भीषण गर्मी में बिजली गायब होते ही बीमार से लेकर तीमारदार सभी कराह उठे। हैरत की बात यह है कि यहां रखा जनरेटर तक नहीं चल सका। जिससे इमरजेंसी में आधा घंटे से अधिक समय तक चिकित्सीय कार्य प्रभावित रहा। डॉक्टरों ने मोबाइक टॉर्च की रौशनी में ही मरीजों को इलाज दिया।

इमरजेंसी में आंधे घंटे रहा अंधेरा।
इमरजेंसी में आंधे घंटे रहा अंधेरा।

ढाई घंटे वार्डों में रहा अंधेरा

वहीं वार्डों में ढाई घंटे से अधिक समय तक अंधेरा कायम रहा। बेतहाशा गर्मी से मरीज बिलबिला उठे। हालांकि व्यवस्था गड़बड़ होने की सूचना जब अधिकारियों तक पहुंची तो रात में ही उन्होंने बिजली आपूर्ति बहाल कराने के प्रबंध किए। दो बजे रात से गुल बिजली सप्लाई सुबह पांच बजे के बाद बहाल हो सकी। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (CMS) डॉ. एससी कौशल ने बताया कि पैनल जल गया था इसके चलते बिजली चली गई थी। उन्होंने बताया कि इमरजेंसी में तो आधे घंटे बाद व्यवस्था बहाल करा दी गई थी बाकी वार्डों में ढाई घंटे बाद सप्लाई आ सकी है।

वार्डों में भी मरीज हुए परेशान।
वार्डों में भी मरीज हुए परेशान।
खबरें और भी हैं...