सुलतानपुर...नदी में मिला महिला का शव:पिता ने गैंगरेप की जताई आशंका, शरीर पर मिले चोट के कई निशान

सुलतानपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोतवाली नगर क्षेत्र के सौरमऊ लंबरदार का पुरवा की रहने वाली महिला सिंचाई विभाग में कार्यरत थी। - Dainik Bhaskar
कोतवाली नगर क्षेत्र के सौरमऊ लंबरदार का पुरवा की रहने वाली महिला सिंचाई विभाग में कार्यरत थी।

सुलतानपुर में महिला का शव मिलने के बाद एक और गंभीर आरोप लगा है। अभी हत्या के एंगल पर जांच चल रही थी, लेकिन महिला के पिता ने गैंगरेप का आरोप लगाया है। महिला के शरीर पर कई चोट के निशान मिले हैं। इससे आरोप को बल मिलता है।

महिला सिंचाई विभाग में कार्यरत थी। गोमती नदी से क्षत-विक्षत अवस्था में शव मिला है। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक का कहना है कि जांच के बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी।

स्कूटी में मिले कागजों से हुई थी पहचान
कोतवाली नगर क्षेत्र के सौरमऊ लंबरदार का पुरवा की रहने वाली महिला सिंचाई विभाग में कार्यरत थी। बुधवार को वह अयोध्या-प्रयागराज मार्ग पर शाम करीब 7 बजे स्कूटी से टाटिया नगर बाईपास होकर कहीं जा रही थी। इसी दौरान वह सड़क किनारे स्कूटी खड़ी करके टाटिया नगर बाईपास के पुल से गोमती नदी में उसने छलांग लगा दी। रास्ते से गुजर रहे लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस ने गाड़ी में मिले कागज से महिला की पहचान की थी।

तीन पहले हो गई थी लापता
गोसाईगंज और देहात कोतवाली की पुलिस बुधवार रात महिला की तलाश में जुटी रही लेकिन उसका कही पता नही चल सका। गुरुवार और शुक्रवार को एसडीआरएफ टीम की मदद से देहात कोतवाली पुलिस महिला की तलाश में देर शाम तक जुटी रही लेकिन तलाश अधूरी रह गई। शनिवार को घटनास्थल से करीब 8 किमी दूर देहात कोतवाली क्षेत्र के बभनगवा घाट पर निर्माणाधीन पुल के पास महिला का शव पानी में उतराता पाया गया।

शरीर पर मिले कई जख्म
महिला के पेट, सीना और प्राइवेट पॉर्ट पर चोट के गंभीर जख्म मिले हैं। अब यह निशान किसी हथियार के हैं या नदी में जानवरों द्वारा काटने के यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। लेकिन महिला के पिता ने बेटी की गैंगरेप के बाद हत्या की तहरीर दी है। कहा है कि साक्ष्य मिटाने के लिए शव को क्षत-विक्षत किया गया है। परिवार के लोगों ने पैनल बनाकर वीडियोग्राफी के साथ शव का पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग की है।

उधर, अपर पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने बताया कि कोतवाली पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कह पाना उचित होगा। बता दें कि महिला का पति सिंचाई विभाग में कार्यरत था, जिसकी डेढ़ साल पहले मौत हो गई थी। महिला मृतक आश्रित कोटे पर सिंचाई विभाग में चतुर्थ श्रेणी के पद पर कार्यरत थी।

मृतका अपने पीछे तीन बच्चे छोड़ गई है, जिनमें एक बेटा और दो बेटियां शामिल हैं। पूर्व में परिजन द्वारा नगर कोतवाली में दी गई तहरीर पर पुलिस ने सिंचाई विभाग के अधिशाषी अभियंता राम प्रकाश प्रजापति को नामजद करते हुए कई अज्ञात कर्मचारियों के खिलाफ गम्भीर धाराओं में मुकदमा भी दर्ज किया है। अधिकारी के साथ-साथ विभाग के कई कर्मचारी शक के दायरे में हैं।

खबरें और भी हैं...