सुल्तानपुर में कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने छोड़ी पार्टी:थामा बसपा का हाथ, पहले दो बार बसपा से रहे थे विधायक; 2022 के चुनाव में कर सकते हैं दावेदारी

सुल्तानपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने थामा बसपा का हाथ। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने थामा बसपा का हाथ।

सुल्तानपुर में कांग्रेस के पूर्व मंत्री ओपी सिंह ने पार्टी छोड़ दी है। उन्होंने बहुजन समाज पार्टी का हाथ थाम लिया है। इसकी जानकारी खुद एमएलसी दिनेश चंद्रा प्रेस ने कॉन्फ्रेंस करते हुए दी। ओपी सिंह पहले भी बसपा में थे। अब कयास लगाए जा रहे है कि वह 2022 के विधानसभा चुनाव में वह बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं।

बसपा से दो बार रह चुके हैं विधायक
पूर्व मंत्री ओपी सिंह बसपा के टिकट पर दो बार जयसिंहपुर सीट से विधायक और पूर्व मंत्री रह चुके हैं। एक बार फिर उन्होंने बहुजन समाज पार्टी का दामन थाम लिया है। बसपा एमएलसी दिनेश चंद्रा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए ओपी सिंह के बसपा में शामिल होने की पुष्टि की है।ओपी सिंह अब तक कांग्रेस पार्टी में थे। ओपी सिंह ने कहा कि उनका कांग्रेस छोड़ने का कोई कारण नहीं है। बस दिल ने कहा तो बसपा ज्वाइन कर लिया। 2022 में दावेदारी को लेकर सवाल पर उन्होंने कहा कि बहनजी का निर्देश हुआ तो अवश्य ही लड़ूंगा और जीतूंगा।

दो बार कांग्रेस प्रत्याशी को दी है मात
ओपी सिंह 2002 और 2007 में बसपा के टिकट पर जयसिंहपुर सीट से विधायक चुने गए थे। पार्टी ने उन्हें दोनों बार मंत्री बनाया। दोनों ही चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी व पूर्व मंत्री पं. जय नरायण तिवारी को पराजित किया था। लंबे अरसे तक बसपा में रहने के बाद मई 2018 में वह बसपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए थे।

खबरें और भी हैं...