सुल्तानपुर में मेनका गांधी के दौरे का आखिरी दिन:बेसिक शिक्षा विभाग के भवन का किया लोकार्पण, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए पैसे न लेने की दी कर्मचारियों को हिदायत

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में भाजपा सांसद मेनका गांधी के दौरे का आखिरी दिन था। जिसपर उन्होनें सभा को संबोधित किया। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में भाजपा सांसद मेनका गांधी के दौरे का आखिरी दिन था। जिसपर उन्होनें सभा को संबोधित किया।

सुल्तानपुर में पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मेनका गांधी तीन दिवसीय दौरे पर पहुंची थी। यह उनका संसदीय क्षेत्र है। दौरे के आखिरी दिन उन्होंने बेसिक शिक्षा विभाग के भवन का लोकार्पण किया। कहा कि जो टीचर काम नहीं करता और उसके बदले में कर्मचारियों को पैसे देता है वो मुझसे बर्दाशत नहीं होगा। दूसरा जो कर्मचारी ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए पैसे लेते हैं ये मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगता। ये दोनों चीजें आगे से न हो।

मां को मालूम होता है घर में तिनका-तिनका कहां है
अपने संबोधन में मेनका गांधी ने आगे कहा मैं अपने आप को सांसद नही बोलती हूं, मैं एक मां हूं। मां को मालूम है घर में तिनका-तिनका कहां क्या है। कभी-कभी वो बोलती है कभी नहीं बोलती है। यह कोविड टीचरों के ऊपर बहुत भारी पड़ा है। बहुत लोगों के घर में तनाव आया। जो टीचर कोचिंग करती थी, जो टीचर प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाती थी। उनको तो बहुत तकलीफ हुई। अब आखिर में नया दिन आ रहा है, स्कूल फिर से खुल रहे हैं। आप लोगों का दायित्व है हमारे बच्चों को पढ़ा लिखाकर के बड़ा करना। मुझे विश्वास है बीएसए मदद करेंगे।

विधायक ने फीता काटा
सांसद मेनका गांधी ने डायट परिसर में बेसिक शिक्षा विभाग के भवन का लोकार्पण किया। जहां पर मौजूद भाजपा जिलाध्यक्ष डॉक्टर आरए वर्मा, विधायक सूर्यभान सिंह, ब्लॉक प्रमुख शिव कुमार सिंह ने सांसद का स्वागत किया। इस अवसर पर सांसद की पहल पर विधायक ने फीता काटकर लोकार्पण किया।

खबरें और भी हैं...