सुल्तानपुर...एसिड अटैक का आरोपी गिरफ्तार:पुलिस ने युवती पर एसिड फेंकने वाले आरोपी को किया गिरफ्तार, BHU में पीड़िता की बिगड़ी हालत

सुल्तानपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में एसिड अटैक का आरोपी गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में एसिड अटैक का आरोपी गिरफ्तार।

सुल्तानपुर जिले के कादीपुर कोतवाली क्षेत्र में धनतेरस की रात एकतरफा प्यार में पागल युवक ने एक युवती पर एसिड फेंक कर उसे बुरी तरह जख्मी कर दिया। एसिड से युवती के चेहरे से लेकर ऊपरी भाग बुरी तरह झुलस गया। गंभीर हालत में जिला अस्पताल से उसे बीएचयू रेफर किया गया। वहां भी उसकी हालत बेहद नाजुक है। डॉक्टर ने उसे वेंटिलेटर पर रखने की सलाह दी है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने आरोपी युवक को गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पुलिस ने आरोपी को भेजा जेल

एसपी डॉ. विपिन मिश्रा ने बताया कि करौंदीकला थाना क्षेत्र के पकड़पुर गांव निवासी आरोपी पवन की गिरफ्तारी के लिए कादीपुर कोतवाली के दारोगा गौरव अवस्थी अपनी टीम के साथ दबिश दे रहे थे। गुरुवार रात मुखबिर की सूचना पर दबिश देकर आरोपी पवन को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके खिलाफ धारा 323, 452, 326-बी और 307 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

बीएचयू में वेंटिलेटर खाली नहीं

बता दें कि पीड़िता कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के भूपतीपुर गांव की रहने वाली है। पीड़िता का परिवार अत्यंत गरीब है। परिवार की मदद के लिए समाजसेवी अब्दुल हक आगे आए हैं। उन्होंने स्थानीय बीजेपी विधायक राजेश गौतम से मुलाकात कर उन्हें पूरे मामले से अवगत कराया। विधायक ने तत्काल 10 हजार रुपए अब्दुल हक को दिए और कहा कि इसे बीएचयू में पीड़िता के माता-पिता को पहुंचाएं। अब्दुल हक पैसे लेकर बीएचयू पहुंचे और पीड़िता की मां को दिए। साथ ही स्वयं भी मदद की। अब्दुल हक ने बताया कि पीड़िता की हालत बेहद चिंताजनक है। डॉक्टरों ने उसे वेंटिलेटर पर रखने के लिए कहा है, लेकिन अभी बीएचयू में कोई वेंटिलेटर खाली ही नहीं है।

दो दिन पहले वारदात को दिया अंजाम

बता दें कि करौंदीकला थाना क्षेत्र पकड़पुर गांव निवासी पवन गौतम (20) पुत्र राम मिलन बुधवार रात पीड़िता के गांव कादीपुर कोतवाली क्षेत्र के भूपतीपुर गांव पहुंचा था। पीड़िता घर के बाहर ही लेटी थी और उसने उसी समय उस पर एसिड फेंका और मौके से फरार हो गया। करीब 7 माह बाद युवती के हाथ पीले होने थे। दिहाड़ी मजदूरी करके परिवार का खर्च चलाने वाला पिता पाई-पाई जमा कर दहेज का जतन कर रहा था, लेकिन अब बेटी के इलाज में परेशान है।

खबरें और भी हैं...