सुल्तानपुर...सौरभ हत्याकांड में पुलिस के हाथ खाली:जमीन के लिए कत्ल की जताई जा रही आशंका, आज पोस्टमार्टम होकर आएगा शव

सुल्तानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक सौरभ की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतक सौरभ की फाइल फोटो।

सुल्तानपुर में दीपावली पर पर जब आज हर ओर जश्न का माहौल है़ उस समय सौरभ के परिवार पर मातम पसरा है। सौरभ का शव आज पोस्टमार्टम के बाद घर लाया जाएगा। पुलिस ने उसके चचेरे भाई संतोष की तहरीर पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है। उसकी हत्या क्यों और किसलिए हुई यह सवाल पुलिस के सामने चुनौती बना है। शक है कि सौरभ के परिवार का पड़ोस के एक-दो लोगों से जमीनी विवाद चल रहा है। इस एंगल पर पुलिस जांच कर रही है।

सुसाइड के नहीं मिले साक्ष्य

घर के बाहर जिस कोठरी में सौरभ सो रहा था, वहां छत आदि पर लगा जाले के तार तक नहीं टूटे हैं। फाॅरेंसिक जांच में ऐसा प्रकाश में आया है़। इस स्थल पर सुसाइड के कोई साक्ष्य भी नहीं मिले हैं। इससे यह तो साफ है़ कि सौरभ की हत्या की गई है़। अब उसे हमलावर ने कमरे में ही मौत की नींद सुला दिया या कहीं लेकर जाकर मारकर कमरे में लाकर बिस्तर पर लिटाया यह जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

ग्रामीणों का कहना है़ कि जिस कमरे में सौरभ बिस्तर पर मृत पड़ा मिला उस कमरे में 8-9 महीने से उसके चाचा का लड़का संतोष रह रहा था। संतोष शहर में प्राइवेट जॉब करता है़, घटना वाले दिन वो 8 बजे एक शादी समारोह में गया था तो उसके कमरे में सौरभ जा सोया। ऐसे में हो सकता है कि हमलावर संतोष के कत्ल के इरादे से आए हो और उसके नहीं मिलने पर सौरभ को मार गए हों।

क्या है मामला
बता दें की मोतिगरपुर थाना क्षेत्र के भैरोपुर गांव में मंगलवार को सौरभ उर्फ राजन (19) पुत्र स्व. हुबराज सोमवार रात भोजन के बाद अपने कमरे में बिस्तर पर सोने चला गया। मंगलवार सुबह वह मृत अवस्था में बिस्तर पर पड़ा मिला तो परिवार में कोहराम मच गया था। जब इसकी जानकारी ग्रामीणों को हुई तो घटनास्थल पर भीड़ जमा हो गई थी। लोगों ने मामले की सूचना मोतिगरपुर पुलिस को दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सौरभ के गले में सूजन व निशान मिले हैं। जिससे परिवारीजन हत्या की आशंका जता रहे हैं।

इकलौता बेटा था सौरभ

सौरभ परिवार का इकलौता चिराग था। मृतक की चार बहनें हैं। पिता की 10 वर्ष पहले ही मौत हो चुकी है। जिसके बाद परिवार की जिम्मेदारी सौरभ के कंधों पर थी। परिजनों ने बताया कि सौरभ पाण्डेयबाबा में स्थित एक निजी संस्थान से आईटीआई की पढ़ाई कर रहा था। मृतक की मां उर्मिला व बहनों का घटना के बाद से रो-रोकर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं...