सुल्तानपुर में सभासदों ने खोला चेयरमैन के खिलाफ मोर्चा:7 सभासदों को लेकर चेयमैन ने पास कर लिया 58 करोड़ का बजट; सभासदों ने किया प्रदर्शन

सुल्तानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो तिहाई सभासदों ने बैठक का किया बहिष्कार डीएम को सौंपा ज्ञापन। - Dainik Bhaskar
दो तिहाई सभासदों ने बैठक का किया बहिष्कार डीएम को सौंपा ज्ञापन।

सुल्तानपुर में करोड़ों के भ्रष्टाचार में घिरी बीजेपी की नगर पालिका चेयरमैन बबिता जायसवाल के खिलाफ अब उनके भाजपा के सभासद भी लामबंद हो गए हैं। आज उनकी तानाशाही के विरोध में सभासद सड़क पर उतरे जिसमें भाजपा खेमे के सभासद भी मौजूद थे। सभासदों ने कलेक्ट्रेट गेट पर चेयरमैन मुर्दाबाद के नारे लगाए और डीएम को ज्ञापन देकर चेयरमैन को बर्खास्त करने की मांग उठाई।

ईओ को सौंपा ज्ञापन

बता दें कि बुधवार को नगर पालिका के सभाकक्ष में बोर्ड की बैठक बुलाई गई थी। दो तिहाई से अधिक सभासदों ने बैठक का बहिष्कार कर सड़क पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। चेयरमैन चोर है के नगर पालिका परिषद में ही नारे लगने लगे। इस बीच क्षेत्राधिकारी नगर राघवेंद्र चतुर्वेदी और नगर कोतवाल राम आशीष उपाध्याय को कानून व्यवस्था संतुलित रखने के मद्देनजर नगर पालिका बुलाया गया और गुपचुप ढंग से आधा दर्जन से भी कम सभासदों की मौजूदगी में 58 करोड़ का बजट पास दिखा दिया गया। इस दौरान नगरपालिका में गहमागहमी का माहौल रहा।

नगर पालिका पहुंचे सीओ और कोतवाल।
नगर पालिका पहुंचे सीओ और कोतवाल।

डीएम ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

सभासदों ने अधिशासी अधिकारी श्याम इंद्रमोहन चौधरी को ज्ञापन दिया। जिस पर ईओ नगर पालिका ने डीएम के आदेश के अनुपालन में कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। प्रमुख सभासदों में अमोल बाजपेई, रमेश सिंह टिन्नू , दिनेश चौरसिया, राजदेव शुक्ला, सुधीर तिवारी, अजय सिंह, संतोष सिंह, प्रवीण मिश्रा, अरुण सिंह, मंगरु प्रजापति, आशारानी श्रीवास्तव आदि मौजूद थे।

डीएम को ज्ञापन देकर निकलते सभासद।
डीएम को ज्ञापन देकर निकलते सभासद।

भ्रष्टाचार और लूट को कायम रखने वाला है एजेंडा

इस मामले में सभासद अमोल बाजपेई ने कहा कि हम लोग निष्पक्ष रुप से न्याय मांगने के लिए डीएम के पास आए हैं। बजट पास कराने के लिए चेयरमैन के तरफ से लगातार एजेंडा भेजा जा रहा है। बोर्ड की बैठक आयोजित की जा रही है। यह एजेंडा भ्रष्टाचार और लूट को कायम रखने वाला है। हम जिलाधिकारी से यह मांग करने आए हैं कि जनहित शासन हित और पालिका हित में बैठक बुलाई जाए। जिससे हम जनता के हित का ध्यान में रखते हुए काम कर सकें। बीते साढे 4 साल में बिजली पानी निर्माण समेत अन्य नागरिक सुविधाओं पर कोई चर्चा नहीं की गई है। हम इस बोर्ड की बैठक का बहिष्कार करते हैं।

कलेक्ट्रेट में नारेबाजी करते सभासद।
कलेक्ट्रेट में नारेबाजी करते सभासद।

मुझे सभासदों के बारे में जानकारी नहीं

वहीं चेयरमैन बबिता जायसवाल ने कहा कि आज नगर पालिका बोर्ड की बैठक बुलाई गई थी। जिसमें 7 सभासद और मैं उपस्थित थी। नगरपालिका अधिनियम के तहत 58 करोड़ के बजट को मंजूरी मिल गई है। सभासदों ने डीएम को ज्ञापन दिया है क्या मांग की है। मुझे कोई जानकारी नहीं है।

खबरें और भी हैं...