• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Sultanpur
  • Threat On Tahir Khan's Legislature In Sultanpur: Omprakash Pandey Bajrangi, Who Was BJP Candidate From Isauli, Filed A Petition In The High Court, Hearing Will Be Held On May 20

सुल्तानपुर में ताहिर खान की विधायकी पर खतरा:इसौली से भाजपा प्रत्याशी रहे ओमप्रकाश पांडे बजरंगी ने हाईकोर्ट में दायर की याचिका, 20 मई को होगी सुनवाई

सुल्तानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में इसौली सीट पर भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश पांडे बजरंगी मामूली हार को बर्दाशत नहीं कर पाए उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर किया है। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में इसौली सीट पर भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश पांडे बजरंगी मामूली हार को बर्दाशत नहीं कर पाए उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर किया है।

सुल्तानपुर में इसौली सीट पर भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश पांडे बजरंगी मामूली हार को बर्दाशत नहीं कर पाए उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर किया है। जहां अब 20 मई को पूरे मामले में सुनवाई होनी है। बता दें कि इस सीट से सपा के ताहिर खान ने 269 वोटों से जीत दर्ज कराई थी।

भाजपा नेता व इसौली प्रत्याशी रहे ओमप्रकाश पांडे ने मीडिया को बताया कि काउंटिंग के समय गड़बड़ी दिखाई पड़ी तो पहले हमारे एजेंट ने मौखिक रूप से कहा कि जहां गड़बड़ है वहां पुनः री काउंटिंग हो। जो आरओ थी उन्होंने उनकी नहीं सुनी। उन्होंने बताया कि मैं स्वंय पहुंचा और मैने लिखित रूप से शिकायत किया कि वोटों में अंतर आ रहा है बैलेट पेपर के वोटों में भी अंतर आ रहा है आप उसको री काउंट करो। तीन-तीन प्रार्थना पत्र मैने उस समय उस दौरान दिया था जब मैं 6500 वोटों से लीड कर रहा था। हमारे तीनों प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया गया जिन बिंदुओं को मैने उठाया था बिना उनको टच किए हुए।

भाजपा के ओमप्रकाश बजरंगी को मिले थे 69360 वोट

ओमप्रकाश पांडे ने आगे बताया कि अंत में हमारी सारी बातों को अनसुना करते हुए मोहम्मद ताहिर खा को गलत ढंग से उन्होंने प्रमाण पत्र दे दिया। बाद में मैने उनके ही सारे रिकॉर्ड निकलवाए उन रिकार्डो में कमी रही। उसी के आधार पर मैं उच्चतम न्यायालय की शरण में गया हूं। निश्चित रूप में मुझे वहां से न्याय मिलेगा। सपा प्रत्याशी ताहिर खान ने री काउनटिंग में 269 वोटों से जीत दर्ज कराई। पूर्व सांसद मोहम्मद ताहिर खान ने 69629 वोट पाकर जीत दर्ज कराई तो भाजपा के ओमप्रकाश बजरंगी 69360 वोट पाकर हार गए। यहा बसपा के यशभद्र सिंह 54119 वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे।

2017 में 4241 वोटों से हारी थी भाजपा
यही हाल 2017 के चुनाव नतीजे आने पर था। जब नतीजे आ रहे थे तब भाजपा प्रत्याशी की जीत की खुशियां मनाई जाने लगी थी। इसी समय पूर्व सपा विधायक अबरार अहमद के समर्थक लामबंद हो गए थे और फिर से काउंटिंग को लेकर उन्होंने हंगामा काटा था। तब जिला प्रशासन ने री काउंटिंग कराई तो भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश बजरंगी 4241 वोटों से चुनाव हार गए थे।2017 के चुनाव में सपा के अबरार अहमद को कुल 51,583 वोट मिले थे और भाजपा के ओमप्रकाश बजरंगी को 47,342 मत मिले थे। जबकि इस बार बसपा के सिंबल पर चुनाव लड़ने वाले यशभद्र सिंह मोनू ने 2017 में रालोद के टिकट पर चुनाव लड़ा था। उन्हें 43,026 वोट मिले थे।

खबरें और भी हैं...