सुल्तानपुर में रात के अंधेरे में राशन की कालाबाजारी:कोटेदार के घर से खाद्यान खरीदकर ले जाते लोगों को ग्रामीणों ने पकड़ा, SDM से की शिकायत

सुल्तानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर में रात के अंधेरे में राशन की कालाबाजारी। - Dainik Bhaskar
सुल्तानपुर में रात के अंधेरे में राशन की कालाबाजारी।

गरीब भूखा नहीं सोए इस कारण कोरोना कॉल से योगी सरकार मुफ्त राशन बांट रही है। मार्च यानी चुनाव खत्म होने तक इस सरकारी योजना का लाभ दिया जाना है, लेकिन सुल्तानपुर में कोटेदार रात के अंधेरे में इसे औने-पौने दामों में गांव के लोगों के हाथों बेच दे रहे हैं। इसका खुलासा तब हुआ जब कोटेदार के घर से राशन खरीदकर घर ले जा रहे लोगों को ग्रामीणों ने रंगे हाथ दबोच लिया और एसडीएम को फोन करके सूचना दी। इस पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

देर रात ग्रामीणों ने पकड़ा

बता दें कि मामला इसौली विधानसभा क्षेत्र का है। बल्दीराय थाना क्षेत्र के रैना जगदीशपुर गांव में गुरुवार देर रात कोटेदार के घर से हो रही राशन की कालाबाजारी को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। गांव निवासी बृजेंद्र तिवारी ने बताया कि हमारे यहां हनुमान अग्रहरि नाम के एक सेठ जी हैं, जो कोटेदार विजय पाण्डेय से सरकारी खाद्यान ब्लैक में खरीदते हैं। भट्ठे के पास उन्होंने राशन को जमा कराया है और सील तोड़कर बोरे में भरकर राशन उठा ले जाते हैं। मौके पर चार बोरी सील बंद और दो बोरी सील खुली मिली, जिसे वो गाड़ी पर लाद चुके थे।

सेठ में पुलिस ने हिरासत में लिया

बृजेंद्र ने बताया कि एसडीएम बल्दीराय और सप्लाई इंस्पेक्टर को मामले की जानकारी दी गई है। वहीं ग्रामीणों ने सेठ हनुमान अग्रहरि को पकड़ा तो उसने बताया कि हर महीने वो कोटेदार से 4-5 बोरी माल खरीदता है। कोटेदार उसे 16-17 रुपए किलो के रेट से गेहूं देता है। उधर इस मामले में चौकी इंचार्ज वलीपुर राकेश कुमार ओझा ने बताया कि राशन ग्रामीणों ने पकड़ा है। सेठ को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं...