सुल्तानपुर में पशु अस्पताल के गेट पर जड़ा ताला:डॉक्टर, वार्ड ब्वॉय, स्वीपर के न आने से नाराजगी, सीएमओ बोले, अस्पताल में भर्ती हैं डॉक्टर

सुल्तानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीणों ने बताया कि अस्पताल में न तो डॉक्टर आते हैं और न ही कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
ग्रामीणों ने बताया कि अस्पताल में न तो डॉक्टर आते हैं और न ही कर्मचारी।

यूपी के सुल्तानपुर में पशु अस्पताल में डॉक्टर, स्वीपर और वार्ड ब्वॉय के न आने से नाराज ग्रामीणों ने अस्पताल में ताला जड़ दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने जमकर प्रदर्शन किया। लंभुआ तहसील क्षेत्र के शाहगढ़ के पशु अस्पताल में ताला जड़ा रहता है। यहां बीमार पशुओं को लेकर आने वाले ग्रामीणों को बैरंग ही लौटना पड़ रहा था। इससे नाराज ग्रामीणों ने अस्पताल में ताला जड़कर जमकर हंगामा काटा।

परेशान होते हैं ग्रामीण
ग्रामीणों ने बताया कि अस्पताल में न तो डॉक्टर आते हैं और न ही कर्मचारी। अस्पताल की हालत बद से बदतर हो गई है। ग्रामीणों का कहना है कि जानवर अगर बीमार होते हैं, तो उनके इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ता है। यहां पर पशु अस्पताल होने के बावजूद मवेशियों के इलाज के लिए परेशान होना पड़ता है। व्यवस्थाएं दुरुस्त न होने से बीजेपी विधायक देवमणि द्विवेदी के विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ रहा है।

सीएमओ बोले, करुंगा निरीक्षण
शाहगढ़ पशु अस्पताल पर सरकार हर महीने लाखों खर्च करती है। बावजूद इसके, अधिकारी और कर्मचारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। ग्राम प्रधान समेत काफी संख्या में ग्रामीणों ने जांच एवं कार्रवाई के लिए एक प्रार्थना पत्र डीएम और एसपी को भेजा है। इस मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर भूदेव सिंह ने बताया कि दुर्घटना के कारण अस्पताल में तैनात डॉक्टर पीके सिंह का इलाज चल रहा है। मैं अस्पताल का निरीक्षण करूंगा और समाधान करूंगा।

खबरें और भी हैं...